कोयला खदान के खिलाफ कर रही थीं प्रदर्शन

उनकी पहचान होने के बाद उन्हें छोड़ दिया गया

प्रदर्शन में शामिल होने जर्मनी पहुंची थी ग्रेटा थनबर्ग

जर्मनी के गांव लुएत्जेरथ का था मामला