कोरोनाकाल में भी हुनर बोल रहा है, दुर्ग के चित्रकार मनिंदर सिंह धुन्ना की कलाकारी देखिए

दुर्ग। खैरागढ़ विश्वविद्यालय से छाप कला की डिग्री हासिल करने वाले छापा चित्रकार मनिंदर सिंह धुन्ना आज देश विदेश में अपने हुनर के जरिए छत्तीसगढ़ को नई पहचान दिला रहे है।

संतराबाड़ी निवासी चरणजीत सिंह और मंजीत कौर के बेटे मनिंदर ने इंदिरा कला संगीत विश्वविद्यालय खैरागढ़ से 2012 में दृश्य कला में पेंटिंग में स्नातक की डिग्री हासिल की है।जिसके बाद इसी विवि से 2014 में छापाकला में फर्स्ट क्लास में स्नाकोत्तर की डिग्री हासिल की है। इसके बाद मनिंदर ने अपने इस कला के दम पर कई राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार हासिल किया है। और आगे भी उनकी इच्छा इसी क्षेत्र में नाम कमाने की है।

साल 2016-17 में उन्हें विजुअल आर्ट्स के क्षेत्र ग्राफिक्स कला में संस्कृति मंत्रालय भारत द्वारा जूनियर फैलोशिप पुरस्कार प्रदान किया गया है। मनिंदर को इसके अलावा अगस्त 2020 में कनाडा के ब्रेडफोर्ड के टाल सेकोइया गैलरी में आयोजित ऑर्डिनरी नो ऑर्डिनरी वर्चुअल आर्ट एंड फोटोग्राफी प्रदर्शनी में पारंपरिक कला श्रेणी में द्वितीय पुरष्कार, अगस्त 2020 में ही जोधाणा फोटो सोसाइटा व ईस्टर्न फाउंडेशन ऑफ आर्ट एंड कलचर द्वारा आयोजित थर्ड भारत ऑनलाईन प्रतियोगिता में व्यवसायिक श्रेणी का प्रथम पुरस्कार , डिपार्टमेंट ऑफ ड्राइंग एंड पेंटिम एमएल एंड जेएनके गर्ल्स कॉलेज सहारनपुर उत्तरप्रदेश औऱ स्टेट ललित कला अकादमी द्वारा आयोजित माय कैनवास कला प्रदर्शनी में प्रथम व्यवसायिक श्रेणी पुरस्कार, समेत कई बड़े पुरस्कारों से नवाजा जा चुका है।

Header Ad