तोपचंद, रायपुर। स्टूडेंट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (एसएफआई ) का राज्य स्तरीय कन्वेंशन आज नूरानी चौक राजातालाब में कामरेड सुधीर मुखर्जी हाल में संपन्न हुआ। राज्य के विभिन्न जिलों से आए प्रतिनिधियों को एस एफ आई की केंद्रीय समिति की संयुक्त सचिव कामरेड दिप्सिता धर ने संबोधित किया।

उन्होंने कहा कि पूंजीवादी सरकारें शिक्षा और स्वास्थ्य की जिम्मेदारी से भागना चाहती हैं और सिर्फ धन्नासेठों के लिए आरक्षित करना चाहती हैं। पिछले कुछ दशकों से खेल चल रहा और इसी के चलते सरकारी स्कूलों को बुरी तरह से बर्बाद कर दिया है। इसी तरह मेडिकल सिस्टम के भी साथ भी है, कोरोना काल में जहां फ्रांस, इटली सहित यूरोप के कई देशों में निजी अस्पतालों को वहां सरकारों ने अधिकृत कर लिया और अपनी जनता का मुफ्त इलाज किया लेकिन भारत सरकार निजी अस्पतालों को लूटपाट की खुली छूट दे दी, जिसके चलते हर दवा की दलाली हुई ऑक्सीजन सिलेंडर की मारामारी हुई। कई लोग मौत के मुंह में समा गए, अपनी जनता को मुफ्त शिक्षा और मुफ्त इलाज उपलब्ध कराना सरकार की जिम्मेदारी है, सिर्फ एस एफ आई इसके लिए लड़ती है ।

एस एफ आई अगर मजबूत होती है तो इसका मतलब सस्ती शिक्षा, सस्ती स्वास्थ्य सेवा की लड़ाई का संगठित होना है।

कन्वेंशन को नौजवान सभा के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष धर्मराज महापात्र और पूर्व राज्य महासचिव राजेश अवस्थी ने भी संबोधित किया। कन्वेंशन में राज्य स्तरीय संयोजन समिति का भी गठन किया गया जिसमे रायपुर से सम्यक जैन, गर्व गभने, अल्पिका कन्नोजे, मानसी ठक्कर, और वारिस अली दुर्ग से अर्चना ध्रुव, सरगुजा से भगतराम,सूरजपुर से किमलेश सिंह और किशुन को शामिल किया गया तथा छह सदस्यीय संयोजक मंडल का निर्वाचन किया गया
संयोजक मंडल में सम्यक जैन, गर्व गभने, अर्चना ध्रुव, किमलेश सिंह, किशुन और भगत राम,निर्वाचित हुए
संयोजन समिति को सघन सदस्यता अभियान संचालित करने, सभी जिलों में जिला समिति गठित करने और राज्य सम्मेलन संगठित करने की जिम्मेदारी दी गई।

12 से 17 दिसंबर तक हैदराबाद में आयोजित होने जा रहे एस एफ आई के 17 वे अखिल भारतीय सम्मेलन के लिए छत्तीसगढ़ से पांच प्रतिनिधियों का भी निर्वाचन किया गया . अखिल भारतीय सम्मेलन के प्रतिधि के लिए वारिस अली, अंशु साहू, अर्चना ध्रुव, किमलेश सिंह और किशुन निर्वाचित हुए, दुर्ग की अर्चना ध्रुव के धन्यवाद ज्ञापन के साथ यह बैठक समाप्त हुई ।