IMG Credit : Fortune india

नेशनल डेस्क, तोपचंद : Digital Rupee Launch Today : भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) की खुदरा डिजिटल रुपया (ईए,-आर) के लिए पहली पायलट परियोजना आज से शुरू की जाएगी. आरबीआई द्वारा जारी एक बयान में कहा गया है कि पायलट भाग लेने वाले ग्राहकों और व्यापारियों के क्लोजर यूजर ग्रुप (सीयूजी) में चुनिंदा स्थानों को कवर करेगा.

Mountain Girl Naina Singh को राष्ट्रपति मुर्मू ने किया इस अवॉर्ड से सम्मानित, जाने और किसे मिला यह अवार्ड

ईए,-आर एक डिजिटल टोकन के रूप में होगा जो कि लीगल टेंडर होगा. यह उसी मूल्यवर्ग में जारी किया जाएगा जैसे वर्तमान में कागजी मुद्रा और सिक्के जारी किए जाते हैं. यह बिचौलियों, यानी बैंकों के माध्यम से वितरित किया जाएगा। इस पायलट प्रोजेक्ट में चरणबद्ध भागीदारी के लिए आठ बैंकों की पहचान की गई है.

इस तरह बांटा गया है अलग अलग चरणों में

पहला चरण देश भर के चार शहरों में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, आईसीआईसीआई बैंक, यस बैंक और आईडीएफसी फस्र्ट बैंक के साथ शुरू होगा। बाद में चार और बैंक ऑफ बड़ौदा, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, एचडीएफसी बैंक और कोटक महिंद्रा बैंक शामिल होंगे.

CG विधानसभा विशेष सत्र: दिवंगत नेताओं को श्रद्धांजलि के बाद सदन की कार्रवाई स्थगित, कल आरक्षण को लेकर होगी चर्चा  

इन शहरों से शुरू होगा प्रोजेक्ट

पायलट शुरू में मुंबई, नई दिल्ली, बेंगलुरु और भुवनेश्वर यानि चार शहरों को कवर करेगा और बाद में अहमदाबाद, गंगटोक, गुवाहाटी, हैदराबाद, इंदौर, कोच्चि, लखनऊ, पटना और शिमला तक विस्तारित होगा. बयान में कहा गया है कि उपयोगकर्ता भाग लेने वाले बैंकों द्वारा पेश किए गए और मोबाइल फोन या उपकरणों पर संग्रहीत डिजिटल वॉलेट के माध्यम से ईए,-आर के साथ लेनदेन करने में सक्षम होंगे.

Health Benefites Side Effects Of Beer: क्या सच में बियर के फायदे हैं? जाने यहां

जानें इससे जुडी खास बातें

लेन-देन व्यक्ति से व्यक्ति (पी2पी) और व्यक्ति से व्यापारी (पी2एम) दोनों हो सकते हैं. व्यापारी स्थानों पर प्रदर्शित क्यूआर कोड का उपयोग कर भुगतान किया जा सकता है. ईए,-आर भौतिक नकदी जैसे विश्वास, सुरक्षा और निपटान अंतिमता की सुविधाओं की पेशकश करेगा. नकदी के मामले में, यह कोई ब्याज नहीं कमाएगा और इसे अन्य प्रकार के धन में परिवर्तित किया जा सकता है, जैसे कि बैंकों में जमा.

पायलट वास्तविक समय में डिजिटल रुपया के निर्माण, वितरण और खुदरा उपयोग की पूरी प्रक्रिया की मजबूती का परीक्षण करेगा. इस पायलट प्रोजेक्ट से मिली सीख के आधार पर भविष्य के पायलटों में ईए,-आर टोकन और आर् टेक्च र की विभिन्न विशेषताओं और अनुप्रयोगों का परीक्षण किया जाएगा.

बयान में कहा गया है कि अधिक बैंकों, उपयोगकर्ताओं और स्थानों को शामिल करने के लिए इसके दायरे को धीरे-धीरे बढ़ाया जा सकता है.