Topchandक्राइम

Raipur Post Office Scam: आकांक्षा पांडे की जमानत खारिज, पुलिस ने रखा था 20 हजार रुपये का इनाम, जानिए क्या है मामला?

Raipur Post Office Scam:

रायपुर, तोपचंद : Raipur Post Office Scam : 15 महीनों से फरार चल रही आकांक्षा पांडे ने सुप्रीम कोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका खारिज होने के बाद सोमवार को गुपचुप तरीके से रायपुर कोर्ट में सरेंडर किया था. आकांक्षा के वकील ने बुधवार को जमानत के लिए अर्जी लगाई थी. जिसे कोर्ट ने खारिज (Akanksha Pandey bail rejected) कर दिया है.

CG Crime News : मिशन सिक्योर सिटी के तहत कांकेर पुलिस का सर्च अभियान, संदिग्ध गतिविधियों पर पुलिस की दबिश

क्या है पूरा मामला ?

5 जुलाई 2021 को सरस्वती नगर थाने में करीब 20 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया गया था. जांच में पता चला कि साल 2014 से 2021 तक आरोपी भूपेंद्र पांडे और उसकी पत्नी ने खुद को रविशंकर विश्वविद्यालय का एजेंट बताकर यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर, वकील, अफसर और कुछ नेताओं को झांसे में लकर करीब 10 करोड़ रुपए से ज्यादा वसूले थे. आरोपी भूपेंद्र ने यह रकम छिंदवाड़ा के चौरई निवासी प्रीतम सिंह ठाकुर के जरिए वसूली थी. आरोपियों ने सभी को बताया कि उन्होंने पैसे एफडी में जमा कर दिए हैं लेकिन बाद में पता चला कि रकम डाकघर में जमा ही नहीं हुई है.

Raipur Crime News: सटोरियों के खिलाफ पुलिस ने चलाया अभियान, 15 आरोपी के साथ 43 हज़ार नगदी जब्त, तीन दिनों में 78 सटोरी गिरफ्तार  

आरोपियों ने फर्जी पासबुक, एफडी के दस्तावेज तैयार कराकर डाकघर की फर्जी सील के साथ सभी को दिए थे. माना जा रहा है कि इस काम में आकांक्षा पांडे ने मदद की थी. 3 अप्रैल 2021 को घोटाले के एक आरोपी भूपेंद्र पांडे की बिलासपुर रेलवे ट्रैक पर लाश मिली. भूपेंद्र की मौत के बाद उसके पास पैसा जमा कराने वाले लोग एक-एक कर पोस्ट ऑफिस पहुंचे तो उन्हें अपने साथ हुई धोखाधड़ी का पता चला. लोगों ने जब पोस्ट ऑफिस में अपने दस्तावेज दिखाए तो पता चला कि ये सब फर्जी हैं. जिसके बाद थाने में घोटाले की एफआईआर दर्ज कराई गई. इस बीच घोटाले की मास्टरमाइंड आकांक्षा पांडे फरार हो गई.

आकांक्षा पर रायपुर पुलिस ने रखा था इनाम

पुलिस में मामला दर्ज होने के कुछ समय बाद भूपेंद्र पांडे ने खुदकुशी कर ली थी. इसके बाद से मुख्य आरोपी आकांक्षा पांडे फरार चल रही थी. रायपुर पुलिस ने आकांक्षा पांडे के ऊपर 20 हजार रुपये का इनाम भी घोषित किया था, लेकिन आकांक्षा ने अग्रिम जमानत सुप्रीम कोर्ट से खारिज होने के बाद सोमवार को गुपचुप तरीके से रायपुर कोर्ट में सरेंडर कर दिया था.

Related Articles