Topchandराज्यरायपुर

Raipur News: नवरात्रि पर दुर्गा पंडाल में CCTV अनिवार्य, रात 10 बजे के बाद डीजे-धुमाल बंद…

नवरात्रि पर्व पर मां दुर्गा की मूर्ति स्थापना करने वाले समितियों की ली गई बैठक

तोपचंद, रायपुर। कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल ने नवरात्रि पर्व पर मां दुर्गा की मूर्ति स्थापना करने वाले समितियों की बैठक ली। इस बैठक में समितियों से कहा गया कि मूर्ति स्थापना किए जाने वाले पंडाल में सीसीटीवी अनिवार्य रूप से लगाए। इसके साथ ही रात्रि 10 बजे के बाद डीजे-धुमाल एवं तीव्र ध्वनि विस्तारक यंत्र के उपयोग पर कार्रवाई की बात कही।

ये भी पढ़ें: CGPSC Peon Exam 2022: भृत्य भर्ती परीक्षा 25 सितंबर को 12 बजे से, नोडल अधिकारी नियुक्त…

अतिरिक्त जिला दंडाधिकारी एनआर साहू ने बताया कि बैठक में सभी समितियो के प्रमुखो को निर्देशित किया गया है कि मूर्ति स्थापना किये जाने वाले पंडाल में सीसीटीवी कैमरा अनिवार्य रूप से लगाया जाना सुनिश्चित करे। रात्रि के 10 बजे बाद डीजे धुमाल एवं तीव्र ध्वनि विस्तारक यंत्र के उपयोग किये जाने पर वैधानिक कार्रवाई की जाएगी।

समितियों के सदस्यों को थाने में देनी होगी जानकारी

साहू ने बताया कि सभी समितियों को यह भी निर्देशित किया गया है कि असामाजिक तत्वो अथवा अस्त्र शस्त्र का प्रयोग करने वाले व्यक्तियों की जानकारी अविलंब संबंधित थानो में दिया जाना सुनिश्चित करे। यह भी निर्देशित किया गया है कि समितियां अपने पदाधिकारियों का नाम, मोबाईल नंबर सहित संबंधित थाना में देने के साथ ही यदि बडे कार्यक्रम (जैसे- जगराता, रास गरबा आदि) का आयोजन किया जा रहा है तो संबंधित थाना में सूचना देते हुए अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी रायपुर के कार्यालय से अनिवार्य रूप से अनुमति प्राप्त करेगे।

ये भी पढ़ें: PFI के ठिकानों पर NIA का एक्शन, 10 राज्यों से 100 से ज्यादा लोगों को किया गिरफ्तार…

95 समितियों के प्रमुख रहे मौजूद

उन्होंने बताया कि सडको पर पंडाल नही लगाएगें, ताकि यातायात बाधित न हो। पंडाल में विद्युत व्यवस्था सही ढंग से करने हेतु निर्देशित किया गया है। मीटिंग में लगभग 95 समितियों के प्रमुख/पदाधिकारी उपस्थित रहे। मूर्ति विसर्जन दिनांक 5 अक्टूबर से 6 अक्टूबर तक किये जाने हेतु निर्देशित किया गया, उसके पश्चात् विसर्जन की अनुमति नहीं दी जावेगी। सभी समिति के पदाधिकारियों से नवरात्रि/दशहरा पर्व को शांति पूर्वक मनाये जाने की अपील की गई।

Related Articles