छत्तीसगढ़ डेस्क, तोपचंद : Hemoglobin deficiency in 80 percent of the people of this Bastar division: छत्तसीगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री (Chhattisgarh Health Minister Singhdeo) बस्तर संभाग के दौरे पर हैं. इस बीच उन्होंने संभाग के लोगों में हीमोग्लोबिन की के बारे में बात कही. बता दें की संभाग के 80 फीसदी लोगों में खून की कमी याने की हीमोग्लोबिन की कमी की शिकायत आई है. ऐसे में ये आंकड़ा काफी ज़ायदा बताया जा रहा है. सरकार की तरफ से कोशिश रहेगी की आंगनबाड़ी केंद्रों में और PDS दुकानों में मिलने वाले चावल में कुछ ऐसे पोषक तत्व शामिल किए जाएं, जिनमें ज्यादा से ज्यादा पौष्टिक आहार हों. जिससे लोगों में हीमोग्लोबिन की मात्रा 11 से नीचे न हों.

Kapoor Ke Totke: कालसर्प को भी काट सकता है छोटा सा कपूर, जाने कैसे?

हीमोग्‍लोबिन कम होने के कारण

डेली डाइट में आयरन की कमी के कारण हीमोग्लोबिन कम हो सकता है. महिलाओं में प्रेग्नेंसी की वजह से भी शरीर में हीमोग्लोबिन की मात्रा कम हो सकती है. पीरियड के दौरान अत्याधिक ब्लीडिंग इसकी वजह हो सकती है. अगर शरीर में हीमोग्‍लोबिन की कमी है तो जंक फूड के सेवन से बचें. विटामिन और कैल्शियम की कमी के कारण भी ये समस्‍या हो सकती है इसलिए विटामिन और कैल्शियम से भरपूर चीजें खाएं.  

क्या बोले स्वास्थ्य मंत्री ?

Hemoglobin deficiency in 80 percent of the people of this Bastar division: 80% लोग शरीर मे खून की कमी से एनीमिया की शिकायत है. इसमें सबसे ज्यादा संख्या गर्भवती महिलाओं, नवजात बच्चों के साथ छोटे बच्चो और पुरुषों में है. खासकर मातृत्व में यह समस्या बनी हुई है. यह आंकड़े काफी चौंकाने वाले हैं. खुद स्वास्थ्य मंत्री ने माना कि यह देश के सबसे बड़े आंकड़ों में से एक है. ग्रामीणों के अधिकतर मौत के कारण की यही समस्या बनी हुई है.

भोजपुरी एक्ट्रेस ने ट्रेल रूम में कर दी कुछ ऐसी हरकत की हो गई वायरल, फैंस ने कहा…

आगे अपनी बात रखते हुए उन्होंने कहा कि इस समस्या को लेकर वे खुद चिंतित है, हालांकि बैठक के बाद अधिकारियों को समस्या का समाधान निकालने के आदेश दिए हैं. मंत्री ने कहा कि बस्तर के ग्रामीणों को एनीमिया जैसी गंभीर बीमारी से बचने के लिए अपने सेहत को लेकर खास सतर्कता बरतने की जरूरत है.

इन लक्षणाें को न करें नजरअंदाज  

-बहुत ज्यादा थकान महसूस होना. स्किन पर पीलापन आना और कमजोरी महसूस करना हीमोग्‍लोबिन की कमी के संंकेत हैं. शरीर में खून की कमी होने पर हार्ट बीट तेज होने की समस्‍या भी हो सकती है. इसकी वजह से सांस लेने में दिक्‍कत महसूस होगी.

-जब शरीर में खून कम होता है, तो ऑक्सीजन की कमी भी होने लगती है. इससे आपको सांस लेने में समस्या हो सकती है और भारीपन महसूस होने लगता है. ऑक्सीजन कम होने से शरीर में ब्लड सर्कुलेशन भी कम हो सकता है. ये कई और समस्‍याओं की वजह बन सकता है.

-हीमोग्‍लोबिन कम होने पर सिरदर्द और सीने में दर्द की शिकायत भी हो सकती है. जब शरीर में हिमोग्लोबीन की मात्रा कम होती है, तो आपको थकान और कमजोरी महसूस हो सकती है. ऐसे में आप कोई भी काम करने में जल्‍दी थक जाएंगे. 

-शरीर में खून की कमी होने से गठिया, कैंसर और किडनी से संबंधित बीमारियों का खतरा भी बढ़ जाता है.