Topchandबलरामपुर

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की घोषणा पर हुआ अमल, 92 शिक्षित विशेष पिछड़ी जनजाति के युवाओं को मिली सरकारी नौकरी

तोपचंद, बलरामपुर। प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने विशेष पिछड़ी जनजाति के शिक्षित युवाओं को पात्रतानुसार नौकरी प्रदान करने की घोषणा की थी। घोषणा के अनुरूप जिले के विशेष पिछड़ी जनजाति पहाड़ी कोरवा तथा पण्डो जनजाति के 92 शिक्षित युवाओं को शिक्षा, आदिम जाति कल्याण, तथा पशुपालन विभाग में सहायक शिक्षक, भृत्य, स्वच्छता परिचारक सह चौकीदार के पदों पर नियुक्ति प्रदान की गई है।

संयुक्त जिला कार्यालय के सभाकक्ष में कलेक्टर विजय दयाराम के. की उपस्थिति में विशेष पिछड़ी जनजाति के नवनियुक्त कर्मचारियों का उन्मुखीकरण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। उन्मुखीकरण कार्यक्रम में नवनियुक्त कर्मचारियों को शासन की कार्यशैली तथा नियुक्त कर्मचारियों की भूमिका की जानकारी दी गई। इस दौरान कलेक्टर एवं जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी ने 08 विशेष पिछड़ी जनजाति के युवाओं को नियुक्ति पत्र प्रदान किया।

उन्मुखीकरण कार्यक्रम में कलेक्टर विजय दयाराम के. ने नवनियुक्त कर्मचारियों को बधाई एवं शुभकामनाएं देते हुए कहा कि आप सभी शासकीय सेवा में आ गए हैं और अब आप अपने-अपने समाज एवं समुदाय के लिए पथप्रदर्शक भी हैं। आप लोगों को सरकारी नौकरी की अहमियत को समझना है, इसलिए आप सभी अपने व्यक्तित्व को शासकीय सेवा के अनुरूप बनाएं। उन्होंने नवनियुक्त कर्मचारियों को कहा कि नौकरी में समय के महत्व पर विशेष ध्यान दें तथा सामाजिक बुराई से दूर रहकर अपने कर्तव्यों का पालन ईमानदारी एवं निष्ठापूर्वक करें।

इस अवसर पर जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी रीता यादव ने नवनियुक्त कर्मचारियों को बधाई एवं शुभकामनाएं दी। सीईओ श्रीमती यादव ने उपस्थित कर्मचारियों को सिविल सेवा आचरण नियम की जानकारी देते हुए अपने पदीय दायित्वों को समझते हुए शालीनता के साथ लोगों के साथ व्यवहार करने तथा समाज को उत्थान की ओर ले जाने की बात कही। नवनियुक्त कर्मचारियों के उन्मुखीकरण कार्यक्रम को सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विभाग आर.के.शर्मा, जिला शिक्षा अधिकारी के.एल.महिलांगे तथा उपसंचालक पशुपालन बी.पी.सतनामी ने भी संबोधित करते हुए बधाई एवं शुभकामनाएं दी।

बता दें कि मुख्यमंत्री के घोषणा के पश्चात जिले में विशेष पिछड़ी जनजाति के 92 शिक्षित युवाओं को शासकीय सेवा में नियुक्ति दी गई है। जिसमें शिक्षा विभाग द्वारा पात्रतानुसार 33 युवाओं को सहायक शिक्षक, 18 युवाओं को नियमित भृत्य, 02 युवाओं को पशुपालन विभाग में स्वच्छता परिचारक तथा 39 युवाओं को आदिम जाति कल्याण विभाग में भृत्य की नौकरी प्रदान की गई है। नौकरी प्राप्त करने वाले में 49 महिलाएं तथा 43 पुरूष है, जिनमें 66 युवा पहाड़ी कोरवा तथा 26 युवा पण्डो जनजाति के हैं।

Related Articles