Uncategorized

राष्ट्रीय श्रमिक शिक्षा एवं विकास बोर्ड की बैठक सम्पन्न, छत्तीसगढ़ में कुशल श्रमिक बनाने हेतु अनेक कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे

रायपुर। दत्तोपंत ठेंगड़ी राष्ट्रीय श्रमिक शिक्षा एवं विकास बोर्ड की बैठक सुंदर नगर स्थित कार्यालय में आयोजित की गई, कार्यक्रम को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय अध्यक्ष विरजेश उपाध्याय ने कहा कि केंद्रीय श्रमिक शिक्षा एवं विकास बोर्ड लगातार श्रमिको को शिक्षित करने के साथ-साथ उनको कुशल श्रमिक बनाने हेतु प्रयास कर रही है। श्री उपाध्याय ने बताया कि भारतवर्ष में 112 करोड़ कार्यरत उम्र के व्यक्ति है जो देश की बहुत बड़ी उपलब्धि है, साथ ही हमारे देश में युवाओं की आबादी देश की जनसंख्या का 65 प्रतिशत है, ये भी एक बड़ी उपलब्धि है।

विरजेश उपाध्याय ने कहा कि अभी तक बोर्ड द्वारा 29 करोड़ श्रमिको का पंजीयन किया जा चुका है जो कि विश्व के अनेक देशों की आबादी के बराबर है। उन्होंने बताया कि 29 करोड़ श्रमिक लगभग 400 प्रकार के पेशे से जुड़े हुए है सतह ही बोर्ड द्वारा राज्य सरकार के श्रमिक मंत्रालय से समन्वय बनाकर आने वाले समय मे अनेक प्रकार के श्रमिको को कुशल बनाने हेतु कार्यक्रम आयोजित किया जाना प्रस्तावित है ।

कार्यक्रम में प्रदेश अध्यक्ष राधेश्याम जयसवाल, श्रमिको के प्रतिनिधि के रूप में लीलाधर चंद्राकर, संजय साहू, विनोद सोनी, एच.एस. मिश्रा सहित छत्तीसगढ़ इलेक्ट्रिक बोर्ड के डिप्टी जीएम गोपाल खंडेलवाल, एनएमडीसी बचेली के एजीएम एम.चंद्रकांत, भिलाई स्टील प्लांट के जेएन ठाकुर, अल्ट्राटेक सीमेंट बलौदाबाजार के मैनेजर वैभव त्रिपाठी, गुरु घासीदास विश्विद्यालय की अस्सिटेंट प्रोफेसर डॉ.राजेश्वरी गर्ग, प्रोजेक्ट डायरेक्टर के.एस. पटले, ऑल इंडिया रेडियो रायपुर के असिस्टेंट डायरेक्टर लखनलाल मयूरा सहित समाजसेवी राजकुमार राठी उपस्थित रहे। कार्यक्रम में श्रमिक शिक्षा के प्रचार-प्रसार में सहयोग एवं सहभागिता पर सभी अतिथियों ने अपने विचार रखे। कार्यक्रम का संचालन क्षेत्रिय निर्देशक डी.एस. सहारे ने किया एवं आभार प्रदर्शन प्रदेश अध्यक्ष राधेश्याम जयसवाल द्वारा किया गया।

Related Articles