Topchandदेश-विदेशफर्जी पकड़राजनीति

FACT CHECK: मूणत का पोस्ट: 10 साल पुरानी तस्वीर उठाकर ‘भारत जोड़ो’ से जोड़ दिया, लेकिन पकड़े गए

छत्तीसगढ़ डेस्क, तोपचंद : Congress Bharat Jodo yatra: कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और सांसद राहुल गांधी (Former Congress President Rahul Gandhi) ने गुरुवार को ‘भारत जोड़ो यात्रा’ (Bharat Jodo Yatra) की शुरुआत कर पहले दिन करीब 20 किलोमीटर की दूरी तय की. इस दौरान पार्टी के वरिष्ठ नेता और सैकड़ों कार्यकर्ता उनके साथ रहे. कांग्रेस पार्टी (Congress) इस यात्रा (Bharat Jodo Yatra) को व्यापक जनसंपर्क अभियान बता रही है और इससे संगठन को संजीवनी मिलने की उम्मीद कर रही है.

बता दें कि कांग्रेस ने राहुल गांधी (Rahul Gandhi) सहित 119 नेताओं को “भारत यात्री” नाम दिया है जो कन्याकुमारी से पदयात्रा करते हुए कश्मीर तक जाएंगे. ये लोग कुल 3570 किलोमीटर की यात्रा करेंगे. राहुल गांधी की पदयात्रा (Bharat Jodo Yatra) शुरू होने के बाद से सोशल मीडिया पर एक और बात की भी चर्चा हो रही है।

भारत जोड़ो की वैन को लेकर क्यों मचा सियासी बवाल

ट्विटर पर मंगलवार से ही एक फोटो तेजी से रीट्वीट हो रही है, जिसमें दिखाई दे रहा है की कुछ कंटेनर जैसी गाड़ियां खड़ी हुई है और उनमें लिखा हुआ है “भारत जोड़ो यात्रा” मगर भजपा के कई नेता इनमें लग्जरी सुविधाएँ होने की बातें कर रहे है. अब इन सब के बीच एक बात ये है कि क्या वाकई में इन कंटेनर्स के अंदर लक्ज़री सुविधाएं है या फिर विपक्ष की मनगढंत बातें, चलिए आपको बताते है इस यात्रा में जो कंटेनर की तस्वीरें आई है वो असल में क्या है.

छत्तीसगढ़ भाजपा के नेता ने किया यह दावा?

इन सब के बीच जहां छत्तीसगढ़ में भाजपा अपनी शाख बचाने में लगी हुई हैं. तो वही अब छत्तीसगढ़ के भाजपा नेता राजेश मूणत ने फेसबुक पर एक फोटो पोस्ट की है और लिखा है कि यह कैसी पदयात्रा… और साथ में कुछ तस्वीरें भी अपलोड की है.

यहाँ निचे आपको एक तस्वीर दिखाते है जिसमें एक लम्बा चौड़ा सन्देश लिखा गया है.

क्या सच में यह कंटेनर है या लक्ज़री गाड़ियां ?

भाजपा नेता जो पोस्ट किया है उसके आधार पर हम आपको सभी तस्वीरों के पीछे की कहानी समझाएंगे।

इसमें सबसे पहली जो बस दिखाई जा रही है दरअसल वह महाराष्ट्र टूरिज्म की बस है जिसपर ऑरेंज रंग में दिखाई पड़ रहा लोगो महाराष्ट्र सरकार के टूरिज्म बोर्ड का है जबकि ‘भारत जोड़ो यात्रा’ कर्नाटक से शुरू हुई है वहीं यह सवाल भी उठता है कि टूरिज्म बोर्ड की सरकारी गाड़ी का इस्तेमाल कैसे हो सकता है? यह गाड़ी निसान कंपनी की कारवां है जिसकी खरीदी महाराष्ट्र सरकार ने 2021 में की थी। वहीं राजेश मूणत द्वारा नीचे दिखाई गयी तस्वीरें JCBL कंपनी की है…

ट्रक के कंटेनरों में आखिर क्या है जिसपर मचा है बवाल यहां देखें..

जेसीबीएल ग्रुप, चंडीगढ़ स्थित भारत के प्रमुख बस बॉडी निर्माताओं में से एक है. इटली स्थित पीएलए एसएलए के साथ तकनीकी सहयोग में, साल 2013 के फ़रवरी महीने में भारतीय बाजार में अल्ट्रा लग्जरी मोटरहोम के दो वेरिएंट लॉन्च हुई, जिनकी कीमत 75 से 80 लाख रुपये के बीच है। वही 16 फ़रवरी 2013 को INDIA.com में छपी एक खबर पर धयान दें तो पता चलता है कि जो तस्वीरें भाजपा नेता ने शेयर की है वो साल 2013 की है. जिन पर oncars.in का वॉटरमार्क भी लगा हुआ हैं.

अंतिम तस्वीर जो दिखाई पड़ रही है वह भारत जोड़ो यात्रा से जुड़ी हुई है जिसमें दिखाई गई तस्वीरों में कंटेनर ट्रक दिखाई पड़ रही है.

अब आईएनसी टीवी की तरफ से एक वीडियो भी सामने आया है जिसमे दिखाया गया है की ट्रक के अंदर क्या है और यात्रा में किस-किस तरह की गाड़ियों का इस्तेमाल हो रहा है. इसमें इन कंटेनर्स में क्या है इन सबके बारे में वीडियो के जरिये दिखाया गया है. यह कंटेनर्स आमतौर पर एक ट्रेन की तरह है, एक कंटेनर में कुल 12 बेड है. नीचे में 6 और ऊपर में 6 बेड लगे हुए है. जिस तरह से ट्रेन के डब्बे होते है उसी तरह इन कंटेनर्स को बनाया गया है. सादगी पूर्वक इस कंटेनर्स को बनाया गया है. इन कंटेनर्स में यात्री रात में आराम करने के बाद सुबह फिर से तैयार होकर ‘भारत जोड़ो यात्रा’ के लिए निकलते है.

हमारी पड़ताल में क्या सामने आया?

इंटरनेट पर जब हमने इस मामले की खोज की तो पता चला की जो तस्वीरें भाजपा नेता के द्वारा पोस्ट की गई है वो पुरानी है जिसे मौजूदा समय के भारत जोड़ों यात्रा से जोड़ कर दिखाया गया है. वही अगर आईएनसी के तरफ से जारी वीडियो पर नजर डाले तो कंटेनर के अंदर से कुछ ऐसा दिखाई पड़ता है

Related Articles