Topchandधर्म

Astrology Tips: मंगलसूत्र पहनते समय महिलाओं को ध्यान रखने वाली जरूरी बातें…

तोपचंद, डेस्क। मंगलसूत्र को महिलाओं के लिए पवित्र रक्षा सूत्र माना जाता है। इसके बिना श्रृंगार अधूरा माना गया है। इसका धार्मिक और ज्योतिषीय महत्व है। मंगलसूत्र में काले मोती का खास महत्व होता है। इन मोतियों के बिना मंगलसूत्र अधूरा है। इन मोतियों को महादेव और पार्वती के बीच बंधन का प्रतीक माना जाता है। मान्यता है कि मंगलसूत्र में सोना माता पार्वती और काले मोती भोलेनाथ का प्रतीक है।

ये भी पढ़ें: Anil Agarwal One Quarter Theory: वेदांता कंपनी के चेयरमैन की सफलता की कहानी…

मंगलसूत्र का महत्व

मंगलसूत्र में नौ मनके होते हैं, जो ऊर्जा का प्रतीक होता है। ये देवी दुर्गा के रूपों का प्रतिनिधित्व करते हैं। ये सुहाग की रक्षा करते हैं। साथ ही दांपत्य जीवन को बुरी नजर से बचाता है। ये मनके वायु, जल, पृथ्वी और अग्नि तत्वों के प्रतीक हैं। स्त्रियों को अपने गले को खाली नहीं रखना चाहिए।

ये भी पढ़ें: Virat Kohli T-20 century: विराट कोहली ने एशिया कप में जड़ा शतक, बनाए नाबाद 122 रन…

दूसरी महिला का मंगलसूत्र नहीं पहनना चाहिए

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार किसी अन्य महिला का मंगलसूत्र पहनना नहीं चाहिए। ऐसा करने से दांपत्य जीवन में कलह और तनाव पैदा करता है। सोना बृहस्पति ग्रह को मजबूत बनाता है। सुहागिन महिलाएं नियमित रूप से मंगलसूत्र धारण करती हैं, उन्हें बृहस्पति शुभ फल देते है।

नोट:- ‘इस लेख के माध्यम से हमारा उद्देश्य सिर्फ सूचना पहुंचाना है, पाठक या उपयोगकर्ता इसे सिर्फ सूचना समझकर ही लें।

Related Articles