रायपुर

बच्चों में मोबाइल और नशीले पदार्थों के उपयोग पर रोक लगाने के लिए समाज के लोगों को आगे आना चाहिए – तेजकुंवर नेताम

तोपचंद, रायपुर। छत्तीसगढ़ राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग गुरुवार को न्यू सर्किट हाउस में बाल अधिकारों के संरक्षण के लिए आहवान कार्यक्रम आयोजित किया। इस कार्यक्रम में अपने उद्बोधन में आयोग की अध्यक्ष तेजकुंवर नेताम ने कहा कि बाल अधिकारों के संरक्षण का विषय शासन, पालक तथा युवा सभी से संबंधित है। उन्होंने युवाओं से आगे आकर बाल अधिकारों के संरक्षण के क्षेत्र में योगदान देने की अपील की।

अध्यक्ष तेजकुंवर नेताम ने कहा कि आज बच्चों में मोबाइल के प्रति बढ़ते हुए मोह और अन्य नशीले पदार्थों के उपयोग पर रोक लगाने के लिए समाज के सभी वर्गों को आगे आना होगा। इस अवसर पर उन्होंने आयोग की टोल फ्री सेवा की आधुनिकीकृत व्यवस्था का भी शुभारंभ किया। उन्होंने अपने उद्बोधन में अनुशासन को सफलता की कुंजी भी निरूपित करते हुए युवाओं से अनुशासित रूप से जीवन व्यतीत करते हुए बच्चों के अधिकारों की रक्षा के लिए हर संभव प्रयत्न करने का आहवान किया।

इस अवसर पर उपस्थित डॉ. टी. रामाराव डायरेक्टर भिलाई इन्स्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी ने कहा कि आयोग द्वारा इस प्रकार युवाओं को बाल अधिकारों के संरक्षण के प्रति जागरूक कर की जा रही पहल बेहद सराहनीय है और आज भाग ले रहे 100 से अधिक प्रतिभागी भविष्य में कम से कम 100 परिवारों को इस क्षेत्र में जागरूक करेंगे। गोकुलानंदा पण्डा कुल सचिव मैट्स युनिवर्सिटी ने अपने उद्बोधन में कहा कि प्राकृतिक रूप से इस धरती पर जन्म लिये गये प्रत्येक प्राणी को उसके जीवन, विकास, संरक्षण और सहभागिता का अधिकार प्राप्त है। यदि युवा समाज में जाकर इस विषय पर जागरूक करने का कार्य करें तो निश्चित रूप से बड़ी उपलब्धि प्राप्त होगी, उन्होंने आयोग को इस सकारात्मक पहल के लिए हार्दिक साधुवाद दिया।

डॉ. शाईस्ता अंसारी विभागाध्यक्ष मनोविज्ञान विभाग मैट्स युनिवर्सिटी ने आयोग को धन्यवाद देते हुए प्रतिभागियों से इस विषय को अपने जीवन और समाज में ले जाने की अपील की। इस कार्यक्रम में मैट्स युनिवर्सिटी तथा भिलाई इन्स्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी रायपुर शाखा के लगभग 100 छात्रों ने भाग लिया। कार्यक्रम का मंच संचालन पुष्पा पाटले सदस्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग द्वारा किया गया। कार्यक्रम में स्वागत उद्बोधन अगस्टीन बर्नाड सदस्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने दिया तथा आभार प्रदर्शन पूजा खनुजा सदस्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने किया ।

Related Articles