Topchandराजनीतिराज्यरायपुर

बेरोजगारी पर Congress Vs BJP: बेरोजगारी भत्ते का कोई वादा नहीं किया, बल्कि भाजपा ने किया था 2003 में बेरोजगारी भत्ता का वादा-कांग्रेस

तोपचंद, रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव(State President of Bharatiya Janata Party Arun Saw) के बयान पर कांग्रेस संचार विभाग प्रमुख सुशील आनंद शुक्ला(Sushil Anand Shukla) ने पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि अरुण साव और अन्य नेताओं के द्वारा  झूठ बोल कर भ्रम फैलाया जा रहा है कि कांग्रेस ने अपने 2018 के जनघोषणा पत्र(Public Manifesto of 2018) में 2500 रु बेरोजगारी भत्ता देने का वायदा किया था।

प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि भाजपा नेता बड़ी बेशर्मीपूर्वक अपनी झूठी बातों के लिए यह भी दलील देते है कि कांग्रेस अमुक वायदे के लिए गंगा जल की कसम खाई थी जबकि कांग्रेस नेताओ ने सिर्फ किसानों के कर्ज माफी को लेकर गंगाजल की कसम खाई थी। कांग्रेस के घोषणा पत्र में बेरोजगारी भत्ते की कोई बात नहीं लिखी गयी है। भाजपाई सफेद झूठ बोल रहे, कांग्रेस बेरोजगारी भत्ते पर भरोसा नहीं करती हम युवाओं को रोजगार देने पर भरोसा करते हैं।

कांग्रेस जो कहती है वो करती है। जनता से वादा कर वादाखिलाफी करना भाजपा का चरित्र है। कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र के बिंदु क्रमांक 4 में हर घर रोजगार देने का वादा किया था, कहा था छत्तीसगढ़ के युवाओं को राजीव मित्र योजना के तहत रोजगार दिया जायेगा जिसके अंतर्गत 10 लाख बेरोजगार युवाओं सामुदायिक विकास और समाज सेवी गतिविधियों में भाग लेने पर न्यूनतम प्रति माह 2500 रूपये प्रदान किया जायेगा।

राजीव गांधी मितान योजना के माध्यम से 13,800 क्लब के माध्यम से युवा के वादा को पूरा कर रही है। राज्य के गोठानो में 13,000 से अधिक महिला स्वसहायता समूह की 1 लाख से अधिक युवा महिलाओं को सामाजिक कामो से जोड़कर भूपेश बघेल 2500 रु से अधिक कमाने का अवसर दे रही है। भाजपा आदतन फ्रॉड फैलाने वाला दल है, कांग्रेस के घोषणा पत्र में कही भी बेरोजगारी भत्ता का उल्लेख नही है। (कांग्रेस के घोषणा पत्र की प्रति संलग्न)

सुशील आनंद ने कहा कि भाजपा ने 2003 के विधानसभा चुनाव में हर शिक्षित बेरोजगार को 500 रू. बेरोजगारी भत्ता देने का वायदा भाजपा ने किया था। 15 साल सरकार चलाने के बाद भी एक भी बेरोजगार को भाजपा ने बेरोजगारी भत्ता नहीं दिया था। भाजपा इसके लिये राज्य के लोगों से माफी कब मांगेगी?

सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि भाजपा का बेरोजगारी को लेकर छत्तीसगढ़ में आंदोलन घड़ियाली आंसू है। भाजपा वास्तव में बेरोजगारों की चिंता करती है तो मोदी सरकार के खिलाफ आंदोलन करे। छत्तीसगढ़ की बेरोजगारी दर देश में सबसे कम है। मोदी सरकार युवाओं को वायदे के अनुसार रोजगार नहीं दे रही हर साल 2 करोड़ युवाओं के वायदे के अनुसार देश के 16 करोड़ युवाओं को रोजगार मिलने थे आबादी के अनुपात में साढ़े आठ साल में छत्तीसगढ़ के भी 30 लाख युवाओं को रोजगार मिलता मोदी की इस वायदा खिलाफी पर भाजपा क्यो मौन है ?

Related Articles