विधानसभा

बजट पर चर्चा : सीएम भूपेश ने समर्थन मूल्य, शराब बंदी और आईटी रेड पर कही ये बातें

रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा के नौंवे दिन बजट पर चर्चा के दौरान आज मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने धान पर समर्थन मूल्य, शराब बंदी और प्रदेश में हुई आईटी रेड पर बीजेपी पर तीखा हमला किया।मुख्यमंत्री ने अपने उद्बोधन में कहा, विपक्ष ने चिंता जताई है हम धान ₹2500 में खरीद रहे हैं। इसलिए धान का रकबा बढ़ रहा है और किसान भी बढ़ रहे हैं। ये सही कह रहे है। छत्तीसगढ़ की जनता के आशीर्वाद से हम राजीव गांधी किसान योजना से किसानों को अंतर की राशि देने जा रहे है। जो किसान खेती छोड़ चुके थे वो अब खेती कर रहे है खेती की ओर लौट चुके है।

₹355 प्रति क्विंटल गन्ना खरीदेंगे:

भूपेश बघेल ने कहा हम केंद्र को पत्र लिखकर कह रहे थे , हम इथेनॉल बनाना चाह रहे हैं, हम केवल अनुमति मांग रहे हैं। आपने धान का बोनस देने पर चावल न लेने का नियम बना दिया है। मैं खुद किसान हूं किसानों का दर्द जानता हूं। किसान मजबूत नहीं होगा तो अर्थव्यवस्था मजबूत नहीं होगी। हम बीजेपी से भी अनुरोध करते हैं भारत सरकार से इथेनॉल बनाने की अनुमति दिलवाएं। ताकि हम पेट्रोकैमिकल में केंद्र को सहयोग कर पाएं। आप एक साल की अनुमति दे रहे हैं, एक साल में कितना प्लांट लग जायेगा। हम छूट और अनुमति नहीं चाह रहे हैं। यह पूरे देश के लिए नजीर बनेगा। आपने प्लांट में गन्ने से शक्कर बनाने का कैप लगा रखा है। आप किसान हितैषी कहाँ हैं, आप रोक लगाते हैं। गन्ने के रस से एथेनॉल बनाएंगे। पीएम विदेश घूम आये, कितने उद्योग लगे। पहले के उद्योगों को बेच रहे हैं। 70 साल में कांग्रेस ने बनाया उसी को बेच रहे हैं।

नरवा, गरवा, घुरवा और बाड़ी, बड़ी समस्या का हल:

जब बीजेपी को अवसर मिला गाय और गंगा दोनों इनके हाथ से छूट गये। इनके शासनकाल में गौशाला को अनुदान दिया जाता था। पशुपालन देश स्तर पर अनार्थिक हो गया है। उत्तरप्रदेश में किसान पूरी रात खेत की रखवाली करते हैं। इस समस्या का निदान छग के पास है। पुरखों की परंपरा है, उसी का पालन कर रहे हैं। दक्षिण भारत में किसी किसान के खेत मे फेनसिंग नहीं मिलेगा। आज यदि इसे परिवर्तित करना है तो सब सुझाव दें। यह नया प्रयोग है। यह पूरे देश मे नजिर बनेगा। शेड बना रहे हैं, चारे की व्यवस्था करेंगे। गौशाला में नस्ल सुधार भी कर सकते हैं। गौठान के चरवाहे के लिए, ₹10,000 दे रहे हैं। रमन सिंह जी आप हिसाब किताब कमीशन में पहुंच गए।

शराब पर तकरार
शराब पर सीएम ने कहा आज भी शराब पकड़ी गई, ड्राइवर हरियाणा का शराब उत्तरप्रदेश की पकड़ा रही है। यह शराबनीति आपके (बीजेपी) समय की है। आपकी योजना है यह योजना हमारी नहीं है। जब शराब बिक रही है तब तो यूपी शराब आ रही है। रमन सिंह ने कहा, आप बोल दीजिए जनघोषणपत्र से हम मुकर रहे हैं। शराबबंदी नहीं करेंगे।भूपेश बघेल ने कहा, रमन सिंह जी का पहले बयान आया था, शराब में फिर ठेकेदारी प्रथा शुरू होगी। रमन सिंह ठेकेदारों की नीति याद दिला रहे हैं। हम छग के जनता से माफी मांगने में संकोच नहीं है।

कर्जमाफी और संविलियन से लोग खुश
कर्जमाफी से किसना और संविलियन से शिक्षाकर्मी प्रदेश में खुश हैं। शिक्षाकर्मियों की घोषणा आपने की थी। हमने शिक्षाकर्मियों का शब्द शिक्षकर्मी ही स्माप्त कर दिया। आपने टिफिन, मोबाइल, स्काई वाक, के लिए कर्ज लिया। हम किसानों की कर्जमाफी के लिए कर्ज ले रहे हैं। राज्य में प्रतिव्यक्ति आय ₹ 91,000 के बाद भी गरीबी, कुपोषण ज्यादा थी। सिंचाई की आपने 15 साल में सिंचाई योजना शुरू नहीं की, 15 साल में आदिवासी क्षेत्र में वृद्धि नहीं हुई। इनके हाल को सुधारने की कोशिश नहीं की। आदिवासी इलाकों में आपकी सरकार में वनोपज का समर्थनमूल्य कम हुआ। आप आदिवासी विहीन प्रदेश करना चाहते थे। आदिवासी पहचान गए थे, आपने सामुदायिक दावा निरस्त किया, गांव उजाड़ दिए। हम आदिवासी इलाकों में सिंचाई व्यवस्था सुधारना चाहते हैं। यह हाइड्रो प्रोजेक्ट है, इसे सिंचाई के लिए बनाना है।

सीबीआई पर रोक की शुरुआत बीजेपी कीसीबीआई पर प्रतिबंध कब से लगा, किसकी सरकार थी। सीबीआई पर प्रतिबंध 2012 में कराया, भारत के राजपत्र में आपने प्रकाशित कराया है। हम आईटी के बारे में राज्यपाल के पास गए थे। जब भी आईटी आती है, जिले के एसपी से सुरक्षा लेते हैं। आपने जानकारी देने की जहमत भी नहीं उठाई। जब राष्ट्रपति आने वाले हैं, नक्सल प्रभावित प्रदेश है। जब भी आईटी आती है, प्रेस को ब्रीफ करती है। समाचार पढ़कर ₹100 करोड़, ₹200 करोड़, सीबीआई आ रही है, ईडी आ रही है। छापे में क्या मिला। ₹2 करोड़ 56 लाख मिला है, जितने भी छापे मारे हैं, 3 माह से रेकी कर रहे थे। उनका खर्च भी वसूल नहीं हुआ। आप इर्द गिर्द के लोगों को बदनाम करने की साजिश करते हैं।

विडियो देखें

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.