रायपुर। प्रश्नकाल के दौरान कांग्रेस से जगदलपुर विधायक रेखचंद जैन ने ओडीएफ से जुड़ा सवाल किया तो विपक्षी नेता भी कूद पड़े और सवाल करने लगे।

दरअसल, रेखचंद ने सदन में पंचायत मंत्री से सवाल करते हुए पूछा कि “पंचायतों में शौचालय निर्माण के लिए वेंडरों का चयन किस आधार पर किया गया ? बिल लगाकर वेंडरों ने पैसे निकाल लिए, ओडीएफ घोषित कर दिया गया। जबकि यह काम पंचायतों का करना था”।

इस पर पंचायत मंत्री टीएस सिंहदेव ने जांच कराने की घोषणा की।

इस पर वरिष्ठ विधायक और पूर्व मुख्यमंत्री अजित जोगी ने कहा सरपंच कर्ज में डूबे हुए हैं, उनके राशि का भुगतान नहीं किया गया है। जल्दबाजी में ओडीएफ घोषित कर दिया गया । कुछ सरपंच कहते हैं पैसे नहीं मिले तो आत्महत्या के अलावा दूसरा चारा नहीं है।

विधायक अजय चंद्राकर ने कहा तीन मद से राशि आ रही है, यह राशि किस मद से रुकी है यह बताना चाहिए।

पंचायत मंत्री ने कहा जहां भुगतान रुका होगा, भुगतान करा लिया जाएगा।

यह भी देखें

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *