रायपुर। विधानसभा में आज बीजेपी विधायक बृजमोहन अग्रवाल द्वारा लॉकअप में हुई मौतों पर उठाये गए एक सवाल पर हुई चर्चा के बाद विधानसभा अध्यक्ष चरणदास महंत ने ऐसे मामलों की जाँच सदन की समिति द्वारा कराये जाने की घोषणा की।

बृजमोहन अग्रवाल ने चंदौरा थाने में हुई लॉकअप में मौत का मामला उठाते हुए पूछा “चंदौरा थाने में लॉकअप में मौत के मामले में कृष्णा सारथी की उम्र क्या थी, क्या उसके खिलाफ अपराध दर्ज था”?

गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने जवाब देते कहा उसकी “उम्र 30 साल थी, न्यायिक जांच में पाया गया कि, उसकी मृत्यु फांसी लगाने से हुई है। मर्ग की जानकारी है, प्रकरण की जानकारी उपलब्ध कराई जाएगी”।

बृजमोहन अग्रवाल ने यह सुनकर कहा “30 साल के नौजवान के खिलाफ कोई अपराध नहीं था, फिर भी पैसे मांगे गए लॉकअप में उसकी मौत हो गई। अब तक मुआवजा नहीं दिया गया”। निर्दोष आदमी मर जाये उसके परिजन को मुआवजा न मिले ! पंकज बेग के मामले को क्यों छिपाया गया।


गृहमंत्री ने फिर जवाब दिया “पंकज बेग ने थाने में आत्महत्या नहीं की है, वह थाने से भाग गया था, वहां उसने आत्महत्या की है।

बृजमोहन अग्रवाल ने फिर सवाल किया “दुर्ग के जेल में राजेंद्र देवांगन की मौत हुई, विभाग ने कहा सीढ़ियों से गिर गया? किस जेल में सीढ़ियां होती है? उसके हाथ पांव टूटा हुआ था।
इसके बाद विपक्ष ने सदन की कमेटी बनाकर जांच करवाने की मांग की। कृष्णा सारथी मामले में उनके ससुर द्वारा शिकायत की गई थी

विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत ने लॉकअप में मौतों के मामले में सदन की समिति बनाकर जांच कराने की घोषणा की।

यह भी देखें

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *