रायपुर। केन्द्रीय आयकर विभाग की रेड पर सरकार ने विधानसभा परिसर में बैठक की और इसके बाद फैसला लिया गया कि इस मसले पर अब चुप नहीं बैठना है। इसके बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के साथ मंत्री मंडल राज्यपाल अनुसुइया उइक़े से मुलाकात करने राजभवन पहुंचे। राज्यपाल से सरकार ने मुलाकात की और इनकम टैक्स की रेड को राज्य सरकार को अस्थिर करने वाला बताया। पत्र में कहा गया है कि, आयकर विभाग की टीम सरकारी अधिकारीयों पर छापामार कार्रवाई कर रही है, राज्य सरकार की अनुमति के बगैर सीआरपीएफ तैनात किया गया है जो साफ साफ राजनीतिक विद्वेश की भावना से की गई कार्रवाई है। बीजेपी के भ्रष्ट्राचार की जांच करने से केंद्र सरकार बौखलाई हुई है। भाजपा लोकतांत्रिक तरीके से कांग्रेस का मुकाबला नहीं कर पा रही है। इसलिए इस तरह के हथकंडे अपनाए जा रहे हैं।

राज्यपाल से मिलने के बाद मंत्री रविन्द्र चौबे ने कहा कि, राज्यपाल से मुलाकात कर हमने ज्ञापन दिया है, छत्तीसगढ़ में दहशत बनाने की कोशिश हो रही है। न सरकार को सूचना और न डीजीपी और सीएस को, जबकि इसकी सूचना राज्य सरकार को दी जानी चाहिए थी। बिती सरकार के काले कारनामे को हम उजागर कर रहे हैं इसिलिए राज्य सरकार को अस्थिर करने की कोशिश की जा रही है। राज्यपाल के हवाले से चौबे ने कहा कि, राज्यपाल ने कहा है कि वो इस मामले में प्रधानमंत्री और राज्यपाल से बात करेंगी
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पहली बार इनकमटैक्स की रेड में अपनी बात रखी है। सीएम ने कहा ​है कि, पूरी तरह से राज्य सरकार को अस्थिर करने की कार्रवाई की है, छत्तीसगढ़ में कांग्रेस लगातार सफलता अर्जित कर रही है इसकी वजह से बीजेपी में बौखलाहट है। जानबूझकर भय का माहौल बनाया जा रहा है। यह पूरी तरह राजनैतिक बदले की कार्रवाई है

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *