रायपुर। बारदाना और धान खरीदी के मसले पर आंदोलनरत किसानों पर मंगलवार को लाठी भांजी गई। इसके बाद प्रदेश की राजनीति गरमा गई है। कांग्रेस जहां इस मसले पर बचने की कोशिश कर रही है, वहां भारतीय जनता पार्टी इस मुद्दे को भुनाने की पूरी कोशिश में लगी हुई है। भाजपा ने इस मामले में 5 सदस्यी जांच दल का गठन किया है और तत्काल केशकाल में किसानों के साथ हुए बल प्रयोग पर जांच करने के निर्देश दिए है।

पार्टी के निर्देश बाद पूर्व मंत्री केदार कश्यप, पूर्व मंत्री लता उसेंडी, पूर्व विधायक सेवक राम नेताम, किसान मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष पूनम चंद्राकर, किसान मोर्चा के पूर्व अध्यक्ष संदीप शर्मा केशकाल के लिए रवाना हुये है। यहां वे किसानों से बात कर एक रिपोर्ट तैयार करेंगे। धान खरीदी में किस तरह की दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है, इसे भी देखेगी.. इसके बाद भूपेश सरकार को घेरने के लिए भाजपा रणनीति तैयार करेगी।

बता दें कि बारदाना की कमी और समर्थन मूल्य में धान खरीदी की अवधि बढ़ाने के लिए प्रदेश के कई हिस्सों के किसान लामबद्ध है, किसान इसके लिए चक्काजाम कर प्रदर्शन कर रहे है, जबकि राज्य सरकार ने पहले ही पांच दिन की अवधि पहले ही बढ़ा दी है, ऐसे में देखना होगा किसानों को सरकार धान बेचने के लिए और समय देती है या नहीं !

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *