पढ़ने लायक

कांग्रेस पर खरीद फारोख्त का आरोप लगाते हुए बीजेपी ने ही राजनांदगांव में निर्दलिय सदस्य खरीद लिया?

राजनांदगांव। छत्तीसगढ़ में पंचायत चुनाव संपन्न होने के बाद एक व्हाट्सएप्प चैट वायरल होने से राजनीति एक बार फिर तेज हो गई है। इस मामले में भाजपा ने कांग्रेस पर खरीद-फरोख्त का आरोप लगाया है। इस बीच एक निर्दलीय जिला पंचायत सदस्य के बीजेपी से पैसे लेकर वोट डालने का कथित चैट वायरल हो गया है, जिसने राजनीति को गर्म कर दिया है।

राजनांदगांव जिला पंचायत के निर्दलीय प्रत्याशी विप्लव साहू ने चैट में स्वीकार किया है की उसने राज्य कांग्रेस संगठन के नेताओं से जिला पंचायत उपाध्यक्ष पद और रुपये की मांग की थी। “मैंने कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं से मुलाकात की और कहा कि मुझे जिला पंचायत को उपाध्यक्ष पद पर आसीन किया जाए और रूपए भी दिए जाए. लेकिन उनकी यह बात कांग्रेस ने नहीं मानी. विप्लव साहू ने चेटिंग में यह भी कहा कि मैंने भाजपा के साथ लाखों रूपए पाकर भी मैं ठगा महसूस कर रहा हूँ। लोग शायद यही कहते है। मौका पहचानना कांग्रेस को नहीं आता।

इस मसले पर कांग्रेस के पूर्व जिला पंचायत उपाध्यक्ष शाहीद ने कहा है कि “निर्दलीय प्रत्याशी विप्लव साहू ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं से बातचीत की थी और उसने उपाध्यक्ष बनाए जाने के साथ ही रूपए की मांग भी की थी। जिस पर कांग्रेस पार्टी का कहना था कि उपाध्यक्ष पद के लिए हम राजी है, लेकिन रूपए देना संभव नहीं है। हमारी पार्टी खरीद फरोख्त नहीं करती है। “इसके बाद विप्लव साहू ने भाजपा के साथ मिलकर क्रास वोटिंग की है। इस संबंध में में रविवार को हमारी ओर से शिकायत की गई है कि जिला पंचायत अध्यक्ष व उपाध्यक्ष के चुनाव को शुन्य किया जाए और मामले की निष्पक्ष जांच की जाए” शाहिद ने कहा ।

वहीं इस मामले में नगर पुलिस अधीक्षक श्याम सुंदर शर्मा ने कहा कि कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने पुलिस अधीक्षक के नाम एक आवेदन दिया है। जिसमें विप्लव साहू ने भाजपा से रूपए लेकर उनके पक्ष में मतदान किया जाने की बात कही है। इस वाट्सअप चेटिंग की कापी भी सौंपी गई है। इस मामले की जांच कर उच्च अधिकारियों के मार्गदर्शन में कार्यवाही की जाएगी।

यह भी पढ़ें

https://topchand.com/the-price-to-collect-the-bell-from-the-sub-tehsil-office-is-18-thousand/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.