पढ़ने लायक

अब 20 फरवरी तक किसान बेच सकेंगे धान, भूपेश कैबिनेट के 3:30 घंटे की बैठक के अहम फैसले

रायपुर। न्यूनतम समर्थन मूल्य में धान बेचने से चूकने वाले किसानों के लिए राहत भरी खबर है। भूपेश सरकार ने अपनी मंत्री मंडल की बैठक में शनिवार को धान खरीदी के लिए निर्धारित तिथि को आगे बढ़ा दिया है। अब धान की बिक्री किसान 20 फरवरी तक कर सकेंगे। सरगुजा से लेकर बस्तर तक धान खरीदी की तिथि बढ़ाने की किसान मांग कर रहे थे। सरकार के इस फैसले के बाद किसानों को राहत मिली है।

मंत्री मंडल की बैठक में राज्य के गन्ना किसानों के हित में निर्णय लेते हुए सार्वजनिक वितरण प्रणाली में आवश्यक शक्कर का क्रय सहकारी शक्कर कारखानों से 3200 रूपए प्रति क्विंटल करने का निर्णय आगामी एक वर्ष हेतु लिया गया।

इस बैठक में खदान/खदान समूहों के खनन से संबंधित संक्रियाओं से समीपस्थ जिले के समस्त क्षेत्र को ‘‘प्रभावित क्षेत्र‘‘ घोषित करने हेतु जिला खनिज संस्थान न्यास नियम, 2015 में संशोधन का अनुमोदन किया गया।


इसके अलावा जिला खनिज संस्थान न्यास नियम 2015 में संशोधन का अनुमोदन किया गया। जिसके तहत अब उच्च एवं अन्य प्राथमिकता क्षेत्रांतर्गत शिक्षा, स्वास्थ्य एवं पेयजल आपूर्ति के क्षेत्रों में अधोसंरचना/निर्माण कार्यो को छोड़कर शेष सभी प्रकार के अधोसंरचना/निर्माण कार्यो पर न्याय निधि में प्राप्त राशि के 20 प्रतिशत तक ही व्यय किया जा सकेगा।


बैठक में नागरिक सेवाओं को घर तक पहुंचाने के लिए मुख्यमंत्री मितान योजना प्रारंभ किए जाने के संबंध में निर्णय लिया गया। समस्त औपचारिकता पूरी करने के बाद आगामी अगस्त माह से योजना लागू की जाएगी। प्रथम चरण में प्रदेश के सभी नगर निगमों में शासकीय सेवाओं की घर पहुंच सेवा आरंभ की जाएगी।

प्रदेश के बस्तर और दुर्ग जिले में स्वीकृत मुख्य खनिज चूना पत्थर के खनिजपट्टा क्षेत्र से उत्पादित खनिजों का बाजार उपलब्ध नही होने और आसपास सीमेंट प्लांट स्थापित नही होने के कारण मुख्य खनिज चूना पत्थर को गौण खनिज के रूप में विक्रय करने की अनुमति प्रदान की गई।

यह भी पढ़े

https://topchand.com/in-this-way-oxygen-will-be-sold-in-chhattisgarh/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.