रायपुर। प्रदेश में ग्रीष्म कालीन सत्र यानी की बजट सत्र 24 फ़रवरी को शुरू हो रहा है। इस सत्र में वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल बजट पेश करेंगे। इस बजट से युवा-बेरोजगारों, माध्यमवर्गीय परिवारों और किसानों को काफी उम्मीद है। इसके लिए भूपेश सरकार ने लगभग आधी से ज्यादा तैयारी कर ली है। रोजाना अलग-अलग विभाग और उनके मंत्रियों के साथ बैठक कर उसे अंतिम रूप देने के लिए भूपेश कार्य कर रहे हैं।

24 फरवरी से लेकर 1 अप्रैल तक यह बजट सत्र चलेगा। इसमें कुल 22 बैठकों होंगी। इस सत्र में राज्यपाल का अभिभाषण नहीं होगा। चूँकि 16 जनवरी को बुलाई गई विशेष सत्र में उनका अभिभाषण हो चुका है। हालांकि राज्यपाल के अभिभाषण पर सदन में चर्चा नहीं हुई थी, जिसे लेकर विपक्ष ने कड़ी अपत्ति दर्ज करते हुए वाकआउट किया था।


मुख्यमंत्री भूपेश बघेल अपने कार्यकाल का यह दूसरा बजट पेश करेंगी, विधानसभा ने ग्रीष्म कालीन सत्र का नोटिफिकेशन जारी करते हुए प्रश्न भी आमंत्रित किये है। इसके बाद विधानसभा सचिव के पास प्रश्न काल के लिए प्रश्न आने भी शुरू हो गए हैं। इस सत्र में भूपेश सरकार नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रस्ताव भी लाएगी।

यह भी देखें

https://topchand.com/know-what-for-this-budget-live/

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *