वीडियो

जब मजाकिया लहजे में अपहरणकर्ता ने बताया, उठाने किसी और को आये थे…बेचारा सोमानी फंस गया

रायपुर। कारोबारी प्रवीण सोमानी के अपहरण मामले में संलिप्त एक आरोपी ने बड़ा खुलासा करते हुए बताया है कि वो लोग उठाने किसी और को आये थे, लेकिन गलती से बेचारा प्रवीण सोमानी फंस गया। आरोपी ने मजाकिया लहजे में इस घटना को बताया, इसके बाद पुलिस के अधिकारी और वहां मौजूद पत्रकार हंस पड़े।
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आरिफ शेख ने प्रेस कांफ्रेंस के दौरान बताया की प्रवीण सोमानी अपहरण काण्ड में पुलिस ने उड़ीसा के गंजाम से तीन अन्य आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। इस दौरान एक आरोपी ने घटनाक्रम बताते हुए कहा कि रायपुर के सिलतरा से 10 लोगों के साथ कारोबारी प्रवीण को उठा कर ले गए थे। उसे उत्तर प्रदेश के अलग अलग जगहों पर रखा था।

लेकिन लगातार पुलिस के छापों से डर कर वे सोमानी को छोड़ कर भाग निकले। एसएसपी आरिफ शेख ने बताया कि आरोपियों के संबंध में महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त होने पर टीम उडीसा गंजाम रवाना की गई थी। टीम द्वारा उडीसा में लगातार कैम्प कर अलग – अलग स्थानों में लगातार रेड कार्यवाही करते हुये गिरोह के 3 सदस्य शिशिर स्वायीन, तूफान गोंड एवं प्रदीप उर्फ बाबू को गिरफ्तार करने में सफल हुए । आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि उनके गिरोह का सरगना पप्पू चैधरी है, जो कुख्यात सरगना चंदन सोनार का मुख्य सहयोगी है वे सभी पप्पू चैधरी के साथ सूरत जेल में अलग – अलग मामलों में जेल में बंद थे। जेल में रहने के दौरान ही पप्पू चैधरी के साथ मिलकर सभी ने अपहरण की पूरी योजना तैयार की थी। नवम्बर 2019 में पप्पू चैधरी ने उनके अन्य साथी मुन्ना नाहक के माध्यम से संपर्क किया था जिसके बाद वे सभी 02 बार उडीसा में एवं 01 बार पटना (बिहार) में मिले थे, जहां उन्होंने अपहरण की पूरी योजना तैयार की। तय समयानुसार वे सभी अलग – अलग माध्यमों से 03 जनवरी 2020 को रायपुर पहुंच गये। पप्पू चैधरी अपने साथ 02 गाडीयां एवं अन्य साथियों को लेकर आया था एवं उनके रूकने की व्यवस्था पप्पू चैधरी के रिश्तेदार अनिल चैधरी ने किया था।

दिनांक 08.01.2020 को सोमानी का अपहरण करने के बाद वे सभी अपहृत को लेकर उत्तर प्रदेश की ओर रवाना हो गये थे। घटना के बाद पुलिस के लगातार बढ़ रहे दबाव एवं अलग – अलग राज्यों में उनसे संबंधित लोगों एवं उनके घरों में की जा रही छापेमार कार्यवाही से वे काफी दबाव में आ गये थे। पुलिस टीम द्वारा गंजाम में उनके साथी को पकड़ने एवं उत्तर प्रदेश में हॉस्पिटल में की गई रेड कार्यवाही एवं पुलिस द्वारा उनका लगातार पीछा किये जाने के कारण वे अपहृत को फैजाबाद (उ.प्र.) के निकट छोड़कर फरार हो गये। फरार होने के बाद वे सभी अलग – अलग साधनों के माध्यम से उडीसा पहुंचे थे।


इसी दौरान टीम को आरोपियों की उडीसा गंजाम उपस्थिति के संबंध में महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त होने पर टीम उडीसा गंजाम रवाना किया गया तथा आरोपियों की पतासाजी कर उन्हें लोकेट किया गया तथा टीम द्वारा गिरोह के 03 सदस्यों को गिरफ्तार करने में सफलता मिली तथा टीम द्वारा गिरोह के अन्य सदस्यों की शीघ्र ही गिरफ्तारी की जाएगी। आरोपियों को गिरफ्तार कर उनके विरूद्ध अग्रिम कार्यवाही की जा रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.