रायपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा के विशेष सत्र में उस वक्त हंगमा बरपा जब विपक्ष की नजर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की कुर्सी में लगे डिजिटल डिवाइस पर पड़ी। विपक्ष ने इसका विरोध किया तो विधानसभा के अध्यक्ष डॉ. चरण दास महंत ने बताया कि जो डिवाइस सीएम की कुर्सी पर लगा है वह सदन में दी जाने वाले जानकारियों के लिए लगाया है। लेकिन, विपक्ष इससे संतुष्ट नहीं हुआ और फिर स्थिति ये बनी की पांच मिनट के लिए सदन की कार्रवाई को स्थागित करना पड़ा।


सदन में सीएम की कुर्सी में लगे डिवाइस पर आपत्ति जताते हुए पूर्व मंत्री अजय चंद्रकार ने कहा कि सदन के भीतर डिवाइस का उपयोग नहीं हो सकता, तो यह कैसे हो गया है?” वरिष्ठ विधायक और पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा – “यह सुरक्षा का मसला है, विधायकों के लेटिट्युड और लॉंगीट्युड लोकेशन को बाहर भेजा जा रहा हो तो.. उन पर निगरानी रखी जा रही हो तो?”


विपक्ष की आपत्ति के बीच सदन के नेता मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सदन से कहा – “पेपर लेस किए जाने की क़वायद के तहत यह मशीन लगाई जा रही हैं, सभी सदस्यों के डायस पर लगेगी, इस डिवाइस पर सभी जानकारियां उपलब्ध होंगी” हालांकि की विपक्ष की भारी आपत्ति के बाद मुख्यमंत्री के चेयर में लगी इलेक्ट्रॉनिक डिवाईस को हटा दिया गया।

यह भी पढ़ें

https://topchand.com/this-shameful-act-was-done-in-front-of-the-girls-family-in-front-of-the-fair/

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *