पढ़ने लायक

सुपेबेड़ा के किडनी प्रभावितों की सरकार कर रही जेनेटिक जांच की तैयारी, मुख्यमंत्री ने दिये ये निर्देश

रायपुर। प्रदेश के सुपेबेड़ा में किडनी प्रभावितों की राज्य सरकार अब जेनेटिक जांच कराने की तैयारी में है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इसके लिए विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए है। इस निर्देश की बाद सुपेबेड़ा मेन एक बार फिर डॉक्टरों का दल अध्ययन करने जाएगा।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से मंगलवार को उनके निवास में स्वास्थ्य विभाग की सचिव निहारिका बारिक सिंह और नई दिल्ली के सुप्रसिद्ध किडनी रोग विशेषज्ञों डॉ. विजय खेर और डॉ. विवेकानंद झा ने मुलाकात की। मुख्यमंत्री ने इन विशेषज्ञों के साथ सुपेबेड़ा के किडनी रोग प्रभावित लोगों के इलाज और बचाव के उपायों के संबंध में विचार-विमर्श किया। ये दोनों विशेषज्ञ मंगलवार को ही सुपेबेड़ा गए थे।

जहां उन्होंने किडनी पीड़ितों की जांच की और इलाज किया। मुख्यमंत्री ने विचार-विमर्श के दौरान सुपेबेड़ा के किडनी प्रभावितों की जेनेटिक जांच कराने के निर्देश दिए। अधिकारियों ने मुख्यमंत्री को बताया कि आन्ध्रप्रदेश के श्रीकाकुलम में भी सुपेबेड़ा जैसे हालात हैं। मुख्यमंत्री ने सुपेबेड़ा में किडनी प्रभावितों का इलाज कर रहे डॉक्टरों के दल को अध्ययन के लिए श्रीकाकुलम भेजने के निर्देश दिए।

डॉक्टरों को लगता है कि यहां यह बीमारी जेनेटिक है। ऐसे सरकार के निर्देश पार यहां जेनेटिक जांच करने सुपेबेड़ा पहुँचेगा। इसके बाद अध्ययन करेगा कि क्या यहां यह महामारी जेनेटिक है। या फिर कोई और कारण है।

छत्तीसगढ़ विधानसभा के शीतकालीन सत्र के दौरान इस विषय पर चर्चा करते हुए स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह ने सुपेबेड़ा में किडनी की महामारी से साफ़ इनकार कर दिया था। सिंहदेव ने अपने जवाब में कहा था एक भी मौत किडनी खराब होने की वजह से नहीं हुई है।

सरकारी आंकड़ों की मानें तो 2008 से अब तक सुपेबेड़ा में 71 मौतें रीनल फेलियर (कीडनी की खराबी) से हुई हैं। जबकी सुपेबेड़ा निवासियों के मुताबिक 105 से अधिक मौतें इस वजह से हो चुकी हैं।

बीजेपी सरकार ने सुपेबेड़ा से लगे देवभोग में एक डायलिसिस सेंटर की भी शुरुआत की थी, लेकिन चिकित्सक की कमी के कारण डायलिसिस सेंटर में एक भी व्यक्ति का ब्लड ट्रांस्फ्युसन नहीं हो पा रहा था। “

यह भी पढ़ें

https://topchand.com/alleged-bangladeshi-nationals-wandering-fearlessly-without-a-visa-and-passport/

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.