बलौदाबाजार। छत्तीसगढ़ में युवा उत्सव की धूम मंगलवार को ख़त्म हुई, इस अवसर पर एक से बढ़ कर एक प्रतिभा ने युवा उत्सव की महफ़िल में चार-चाँद लगाये। उनमें से एक है आम्रपाली बनर्जी ! पेशे से शिक्षिका हैं और इतना मधुर हारमोनियम बजाती है कि युवा उत्सव में जिस किसी ने भी उनके बजाये हुए हारमोनियम के धुन को सुना! वो कायल हो गया।

बलौदाबाजार जिले के हिरमी निवासी आम्रपाली बनर्जी कैंसर पीड़ित होने के बावजूद हिम्मत नहीं हारी और राजधानी रायपुर के साइंस कॉलेज मैदान में आयोजित राज्य स्तरीय युवा महोत्सव में हारमोनियम प्रतियोगिता में तृतीय पुरस्कार प्राप्त किया। बनर्जी ने प्रदेश में युवा महोत्सव के अयोजन के लिए राज्य सरकार के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा कि प्रतियोगिता के लिए उम्र मायने नहीं रखती है। उन्होंने 40 वर्ष आयु वर्ग के लिए हारमोनियम प्रतियोगिता में भाग लिया और विजयी हुईं।

आम्रपाली ने बताया कि कैंसर के साथ-साथ उन्हें कमर में भी काफी तकलीफ है। हारमोनियम रियाज के लिए ठीक से बैठ नहीं पाती हैं। उसके बावजूद आम्रपाली ने हिम्मत नहीं हारी। उन्होंने युवा महोत्सव के इस आयोजन में भाग लिया। हारमोनिययम प्रतियोगिता में उन्होंने तीनों सप्तक में छोटे-छोटे तीन टुकड़े प्रस्तुत किए। उनकी रचना को जजों ने सराहा और वे पुरस्कार भी जीती। आम्रपाली बनर्जी ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को युवाओं की प्रतिभा को निखारने उन्हें मंच प्रदान करने के लिए आयोजित युवा महोत्सव के लिए धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि ऐसे आयोजन  से युवाओं को अपने हुनर को प्रदर्शित करने का अवसर मिलता है। वहीं प्रतियोगिता में हिस्सा लेने से आगे बढ़ने के लिए आत्मविश्वास पैदा होता है। इस तरह के आयोजन होते रहना चाहिए।

यह भी पढ़ें

https://topchand.com/brainstorm-on-supebera-find-out-the-cause-and-research-will-happen/

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *