पढ़ने लायक

एजाज ढेबर बने रायपुर के पहले मुस्लिम महापौर..सबसे ज्यादा वोटों से बनकर आये थे पार्षद

रायपुर। नगर निगम रायपुर के महापौर चुनाव के परिणाम आ गए है। 41 वोटों के साथ एजाज ढेबर ने जीत दर्ज की है, जबकि भाजपा के मृत्यंजय दुबे को 29 वोट मिला है। कांग्रेस को निर्दलियों का भी समर्थन है। शनिवार को निर्दलीय पार्षदों ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से मुलाकात कर अपना समर्थन देने की बात कही थी वहीं एजाज को महापौर बनाने की बात कही थी।

एजाज काफी लम्बे समय से राजनीति से जुड़े हुआ है, वे वार्ड क्रमांक 46 “मौलाना रउफ वार्ड” 2 बार के पार्षद है, इस बार वे सबसे जयादा वोटों से जीतकर आने वाले पार्षद है। वार्ड में 15 हजार 620 मतदाताओं में से 9 हजार 394 मतदाताओं ने वोट दिया था, जिसमें से एजाज ढेबर को 6739 वोट मिले है। वहीं दूसरे स्थान पर भाजपा के सुनील वांदरे को 2297 वोट और तीसरे स्थान पर जोगी कांग्रेस प्रत्याशी अनाम उल्ला खान को मात्र 82 वोट मिले है।

एजाज ढेबर इस बार हुए विधानसभा के चुनाव में रायपुर के दक्षिण विधानसभा सीट से चुनाव लडने की तैयारी में थे। उन्होंने संगठन से टिकट की भी मांग की थी। लेकिन संगठन ने एजाज की दावेदारी की ख़ारिज करते हुए उनपर विश्वास नहीं जताया था।

मार-पीट और बलवा का भी है आरोप  

2010 में पार्षद एजाज ढेबर ने अपने साथियों के साथ मिलकर बैरनबाजार में एक युवक से मारपीट की थी। पीडि़त युवक की रिपोर्ट पर पुलिस ने एजाज ढेबर के खिलाफ केस दर्ज किया था। एजाज ढेबर के खिलाफ कोतवाली समेत अन्य थानों में 8 मामले दर्ज हैं। विधानसभा चुनाव के दौरान वे जेल भी जा चुके है।

कीचड़ फेंकने के आरोप में हुए थे निगम से निलंबित

3  जुलाई 2019 को निगम की सामान्य सभा के दौरान सदन में कीचड़ फेंकने वाले पार्षद मनोज प्रजापति और कांग्रेस पार्षद एजाज ढेबर को निलंबित किया गया था। बता दें कि प्रश्नकाल के दौरान भाजपा पार्षदों ने बरसात के पहले नालो की सफाई नहीं होने को लेकर हंगामा किया था और हंगामे के दौरान भाजपा पार्षद मनोज प्रजापति ने सदन के भीतर नाले का मलबा और कचरा फेंका था। यह कार्रवाई सदन में अनुचित आचरण करने पर सभापति ने की है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.