भिलाई। स्टील सिटी के सबसे बड़े निजी अस्पताल ‘चंदुलाल चंद्राकर अस्पताल’ को कर्ज न पटा पाने की वजह से सिज़ कर दिया है। अस्पताल प्रबंधन पर 143.2 रूपये का कर्ज है। जिसे पटाने के लिए बैंक ने कई बार पूर्व में नोटिस जारी किया था, लेकिन अस्पताल प्रबंधन की तरफ से कोई जवाब नहीं दिया गया था। इसके बाद सोमवार को इंडियन बैंक ने नोटिस चिपका कर अस्पताल और मेडिकल कालेज को सीज कर लिया है।

जानकारी के अनुसार अस्पताल प्रबंधन ने 1  फरवरी 1996 को जमीन गिरवी रख इंडियन बैंक से 84.38 करोड़ और सेन्ट्रल बैंक से 58. 63 करोड़ रूपये का कर्ज लिया था। बताया जा रहा है कि कंसोर्टियम एकाउंट होने के कारण इंडियन बैंक की तरफ से बड़ी कार्रवाई की गई है। इसके बाद अस्पताल संचालन में अडचने आने की संभावना जताई जा रही है, फिलाहल मरीजों का इलाज जारी है।

बैंक की तरफ से सीज की गई संपत्ति

बैंक ने नेहरु नगर चौक पर स्थित 12025 वर्ग मीटर में फैले पूरे अस्पताल की बिल्डिंग और ओपन लैंड पर कब्ज़ा नोटिस चिपकाया है। इसके अलवा कचान्दुर स्थित मेडिकल कालेज की बिल्डिंग, ऑडिटोरियम, नर्स होस्टल, स्टाफ क्वाटर और इन्फ्रास्ट्रक्चर समेत 25  एकड़ जमीन को अपने कब्जे में लिए लिया है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *