पढ़ने लायक

निकाय चुनाव के लिए कांग्रेस ने जारी किया शहरी जन घोषणा पत्र, जानें क्या है लोक लुभावन वादे

रायपुर । कांग्रेस ने मंगलवार को नगरीय निकाय चुनाव के लिए अपना शहरी जन घोषणा पत्र जारी किया । जन घोषणा पत्र समिति के अध्यक्ष डॉ. शिव कुमार डहरिया ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि नागरिकों को घर पहुंच सेवा मुहैय्या कराए जाने हेतु मुख्यमंत्री मितान योजना लागू की जाएगी। इस योजना के माध्यम से लगभग सौ से अधिक शासकीय सेवाओं जैसे ड्राइविंग लाइसेंस, जाति प्रमाण पत्र, राशन कार्ड, बिजली बिल, पेंशन, राजस्व अभिलेख प्राप्ति, जन्म प्रमाण पत्र आदि को घर पहुँच कर प्रदान किया जाएगा तथा मुख्यमंत्री मितान के रूप में चिन्हांकित आठ से दस हजार युवाओं को रोजगार भी मिलेगा।

इंदिरा गांधी हरित अभियान के अंतर्गत शहरी क्षेत्रों में वृक्षारोपण, शहरी बाड़ी एवं ऑक्सीज़ोन के माध्यम से पर्यावरण संरक्षण की दिशा में मिशन मोड पर कार्य किया जाएगा।

शहरी क्षेत्रों में जवाहर जिम योजना के माध्यम से सर्वसुविधायुक्त जिम की स्थापना की जाएगी। प्रत्येक निकाय के चिन्हित वार्डों में राजीव गांधी ज्ञानोदय केंद्र स्थापित किये जाएंगे जिनमें ऑनलाइन रीडिंग जोन तथा पठन पाठन हेतु वाचनालय की शहर स्तर पर स्थानीय प्रतिभाओं एवं विभूतियों को सम्मान देने हेतु महात्मा गांधी शहरी सम्मान पुरस्कार प्रारम्भ किये जाएंगे। जिसमें नगर भूषण अवार्ड, नगर शिक्षक अवार्ड, नगर हितैषी हवाई, नगर खिलाड़ी हवाई आदि प्रदान किये जाएंगे।

शहर के प्रमुख तालाब में धार्मिक कार्यक्रमों के लिए विसर्जन कुंड का निर्माण किया जाएगा । घाटों में महिलाओं के लिए चेंजिग रूम बनाए जाएंगे। पौनी पसारी योजना में महिलाओं को प्राथमिकता दी जाएगी। चलित ठेले व्यवसाय ओं को बालों के प्रमुख स्थान पर वेंडिंग जोन चिन्हांकित कर व्यवसाय हेतु उचित स्थान दिया जाएगा

नगरीय निकायों को शासन की ओर से प्रदान की जाने वाली चुंगी क्षतिपूर्ति की राशि में वृद्धि की जाएगी।

आर्थिक एवं कौशल विकास से समावेशी शहर का निर्माण

हर नागरिक का होगा शहरी विकास में योगदान

व्यापारियों की बहुत दिनों चली आ रही गुमास्ता लाइसेंस में सलरीकरण की सालों को पुरानी मांग को पुरा करते हुए हमारी सरकार ने नवनीकरण से छुट प्रदान की, जिससे व्यापारी भाइयों को हर साल पैसे की बचत होगी।

स्थानीय छत्तीसगढ़ी संस्कृति एवं विलुप्त होती हुई स्थानीय परंपरा को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से समस्त 168 नगरीय निकायों में पीनी-सारी योजना प्रारंभ की गई है।

पानी पसारी योजना में प्रति ईकाई 30.00 लाख की लागत से, कल 255 पौनी-पसारी बाजारों का विकास किया जायेगा, जिसस प्रदर परंपरा से संबंधित 12240 परिवारों के लिए रोजगार के नवीन अवसरों का, सृजन होगा। इस योजना में विकसित बाजार में चबूतरा भी मात्र 10.00 रू. के मान से व्यवसाय हेत उपलब्ध कराया जावेगा।

नरवा, गरवा, घुरवा, बाड़ी छत्तीसगढ़ के चार चिन्हारी

 शहरी तालाबों एवं नदियों के संधारण हेतु कार्ययोजना और क्रियान्वयन प्रारंभ

कृषि बाहुल्य शहरी क्षेत्रों में ग्रामीण सराजी योजना की तर्ज पर नरखा, गरवा, परवा, बाड़ी योजना का क्रियान्वयन किया जाएगा।

दिन के समय में गौधन के चारा व्यवस्था हेतु समस्त नगरीय निकायो म गोठाना निर्मित किए जाएँगे। । आवारा पशुओं हेतु कांजी हाउस का सुदृढ़ीकरण किया जावेगा।

 गौठान एवं कांजी हाउस के संचालन संधारण हेतु गोधन उत्पाद यथा- गोबर, गौमूत्र आदि से नवीन उत्पाद का निर्माण करते हुए, ड्राई डेयरी का विकास किया जाएगा।

जल संवर्धन हेतु शहरी नालों का वैज्ञानिक रीति से सुधार किया जाएगा एवं उत्सर्जित जल का उपचार किया जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.