रायपुर। आधुनिकता इस दौर में ऑनलाइन ठगी की घटनाओं में दिनों-दिन इजाफा हुआ है। पिछले कुछ सालों में खासकर बैंक खातों से रकम निकालकर धोखाधड़ी के मामले तेजी से बढे हैं और सबसे ज्यादा एफआईआर दर्ज भी इन्ही मामलों को लेकर किए गए है।

बढ़ते साइबर क्राइम के मामलों को रोकने के लिए प्रदेश के हर जिलों में साइबर थाना खोलने की तैयारी की जा रही है। इससे किसी भी तरह के साइबर अटैक होने पर अपराध दर्ज किए जा सकेंगे। इन थानों की शुरुआत रायपुर से की जाएगी क्योंकि राजधानी रायपुर में ही सबसे ज्यादा मामले दर्ज किए गए हैं। साइबर थानों के साथ-साथ सभी जिलों में साइबर एक्सपर्ट भी रखे जाएंगे जो इन मामलों को सुलझाने का काम करेंगे।

इस विषय पर एडीजी योजना एवं प्रबंध ‘आरके विज’ का कहना है ” राज्य शासन को प्रस्ताव भेजा गया है। रायपुर के साथ-साथ प्रदेश के सभी जिलों में साइबर थाने खोलने की योजना बनाई गई है और एक्सपर्ट की मदद से मामले सुलझाए जाएंगे। जिसके लिए एक्सपर्ट की भर्ती की जाएगी।”

बता दें कि पहले ही प्रदेश में साइबर लैब बनाया गया है। जहां शिकायतें तो दर्ज होती है लेकिन एक्सपर्ट ना होने की वजह से जांच में देरी होती है। जिस वजह से साइबर थाना बनाया जा रहा है, जिसमें साइबर लैब के साथ साथ एक्सपर्ट भी होंगे।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *