रायपुर। छत्तीसगढ़ को केंद्र सरकार की ओर से 7 पुरुस्कार मिले हैं। यह पुरुस्कार मनरेगा (महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना) में उत्कृष्ट कार्य और क्रियान्वन के लिए दिया गया है।  इसके लिए पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री टी.एस. सिंहदेव ने मनरेगा क्रियान्वयन में लगे सभी अधिकारियों-कर्मचारियों और पंचायत प्रतिनिधियों को बधाई दी है।

सिंहदेव ने राष्ट्रीय स्तर पर दिए जाने वाले इन पुरस्कारों में जगह बनाने के लिए मुंगेली के कलेक्टर और जिला कार्यक्रम समन्वयक (मनरेगा) सर्वेश्वर नरेन्द्र भूरे, पामगढ़ जनपद पंचायत में मनरेगा कार्यक्रम अधिकारी सौरभ शुक्ला और  ग्राम पंचायत पोड़ी की सरपंच प्रेमा बाई और धोतीमटोला की सरपंच विद्या रावते को खासतौर पर बधाई और शुभकामनाएं दी हैं।

केन्द्रीय ग्रामीण विकास, पंचायतीराज, कृषि एवं कृषक कल्याण मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर 19 दिसम्बर को राष्ट्रीय कृषि विज्ञान परिसर, नई दिल्ली में आयोजित पुरस्कार समारोह में छत्तीसगढ़ को ये पुरस्कार प्रदान करेंगे। प्रदेश को मनरेगा के तहत जियो-मनरेगा इनीशिएटिव्ह के क्रियान्वयन में देशभर में दूसरा, कार्यपूर्णता में दूसरा और सुशासन (Good Governance) इनीशिएटिव्ह के क्रियान्वयन में दूसरा स्थान मिला है। जिला प्रशासन द्वारा योजना के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए मुंगेली का चयन किया गया है।

जियो-मनरेगा इनीशिएटिव्ह के तहत जी.आई.एस. संपत्ति पर्यवेक्षण क्रियान्वयन (GIS Asset Supervision Implementation) में जांजगीर-चांपा जिले का पामगढ़ विकासखंड देशभर में दूसरे स्थान पर है। वाटर हार्वेस्टिंग हेतु संरचना निर्माण के लिए कोरिया जिले के पोड़ी ग्राम पंचायत (विकासखंड सोनहत) को देशभर में दूसरा तथा मनरेगा कार्यों के क्रियान्वयन में उत्कृष्टता के लिए बालोद जिले के धोतीमटोला (विकासखंड डौंडी) को तीसरा स्थान मिला है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *