बिट्टू शर्मा, जांजगीर-चांपा। शायद यह कलयुग ही है जो मासूम बच्चियों को देखकर भी वासना फूट पड़ती है। ऐसा ही एक उदाहरण जांजगीर में देखने को मिला, जहां छह साल की मासूम बच्ची को अपनी दरिंदगी का शिकार बनाने की कोशिश करते एक शख़्स पकड़ा गया। 

यह शख़्स और कोई नहीं, छह वर्षीय मासूम का रिश्तेदार था। जो अपनी रिश्ते में साली लगने वाली बच्ची से दुष्कर्म का प्रयास कर रहा था। तभी महिला एवं बाल विकास विभाग की सुपरवाइजर की उस पर नजर पड़ी और बच्ची को बचा लिया गया। आरोपी को पुलिस ने गिरफ़्तार कर लिया है है और पॉक्सो एक्ट के तहत आरोपी पर कार्रवाई की जा रही हैं।

दरअसल, मामला जांजगीर थाना क्षेत्र के कुलिपोट गांव का है। शांति नगर का रहने वाला राजेंद्र राजपूत अपनी बेटी के जन्मदिन का न्योता देने परिजनों को पास के ही गांव कुलीपोटा गया था इस दौरान उसने अपने रिश्ते की साली जिसकी उम्र महज 6 साल है को अपने साथ चलने के लिए कहा इस पर बच्ची खुशी-खुशी तैयार हो गई हो गई। 

आरोपी राजेंद्र राजपूत बच्ची को लेकर निकला और जांजगीर आने के बजाए गांव के ही करीब सुनसान इलाके में ले जाकर उसके साथ रेप की कोशिश करने लगा। बच्ची इस दौरान चिल्ला रही थी तभी उसी रास्ते से गुजर रही महिला बाल विकास विभाग की सुपरवाइजर सरोज तिवारी ने हिम्मत दिखाते हुए मौके पर पहुंच कर आरोपी को पकड़ लिया और आसपास के लोगों को भी आवाज देकर इकट्ठा कर लिया। 

उसके बाद पहले तो लोगों ने मौके पर ही आरोपी की पिटाई की और पुलिस को सूचना देकर बुलाया गया। फिर मामला थाने तक पहुंचा, थाने में बच्ची की काउंसलिंग की गई बच्ची के बयान के आधार पर पॉक्सो की धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। थाने पहुँची पुलिस अधीक्षक पारुल माथुर ने बताया कि महिला बाल विकास विभाग की सुपरवाइजर की रिपोर्ट पर धारा 376 और पॉक्सो एक्ट की धाराएं लगाई गई है और बच्ची को मेडिकल जांच के लिए भेज दिया गया है। 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *