स्टोरी

रायपुर पालिका से निगम तक का सफर, जान कर हैरान हो जाएंगे इतनी कम थी आबादी

रायपुर। राजधानी में नगर पालिका को बने 152 साल हो गए। रायपुर नगर पालिका का गठन सन 1867 में किया गया था। नगर पालिका से जुड़े पुराने किस्सों को अगर देखे तो अंग्रेजो के समय से ही रायपुर में विकास कार्यो का होना शुरू हो गया था ।

सन 1867 के समय रायपुर की आबादी 38341 हुआ करती थी और पालिका की सालाना कमाई 241000 रुपये थी। रायपुर में मालवीय रोड का पुराना निगम मुख्यालय ही उस समय पालिका का ऑफिस हुआ करता था। और वहां डिप्टी कलेक्टरों की बैठकें हुआ करती थी।

नगर पालिका से जुड़े किस्सों में एक किस्सा नल जल योजना से भी जुड़ा हुआ है। उस दौरान नगर पालिका के सभी घरों में नल जल की सुविधा देने के लिए राजनांदगांव के राजा बहादुर बलराम दास ने दो लाख रूपए की मदद की थी, तब राजा की मदद को देखते हुए नल जल योजना का नाम बलरामदास वाटर वर्क्स रखा गया था।

इसी दौरान 1887 में रायपुर का टाउन हॉल भी बनाया गया। देश आजाद होने के बाद पालिका नियमों में बदलाव किए गए और पालिका के संचालन के नए नियम बनाए गए। जिससे बाद नगर पालिका का कार्य नए नियमों के आधार पर शुरू हुआ। उस समय नगर पालिका समिति में 26 सदस्य थे। जिसके बाद 1967 में रायपुर नगर निगम बना।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.