कोरबा। कटघोरा उपजेल में एंटी करप्शन ब्यूरों ने रिश्वत लेने के आरोप में जेल के प्रहरी को गिरफ्तार किया है। आरोपी जेल प्रहरी धीरेन्द्र सिंह ने जेल में सजा काट रहे शंकरलाल रजक की पत्नी से उसे खाना देने और मारपीट नहीं करने के एवज में दो लाख रुपये की रिश्वत मांगी थी। इसके बाद बुधवार को एसीबी ने उपजेल में छापा मार कर धीरेन्द्र सिंह को रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ लिया है।

जेल प्रहरी धीरेन्द्र सिंह ने शंकरलाल रजक की पत्नी से दो लाख की डिमांड की थी और कहा था कि उसके पति को अगर प्रताड़ना से बचाना है तो वे उसे पैसे दे। रकम बड़ी होने की वजह से धीरेन्द्र सिंह ने रियायत देते हुए किश्त में पैसे देने को कहा था। शंकरलाल की पत्नी जेल प्रहरी की रूपये मांगने की बात जा कर एंटी करप्शन ब्यूरों के अधिकारियों को बताई इसके बाद योजनाबद्ध तरीके से उसे गिरफ्तार कर लिया गया है।

इस घटना ने जेल विभाग पर सवाल खड़ा कर दिया है, क्या हर अपराधी से इस तरह का अमानवीय बर्ताव किया जाता है। क्या कैदियों को खाना देने के लिए उनके परिवार के इमोशंस के साथ खेला कर मोटी कमाई की जाती है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *