वीडियो

जवानों के खूनी संघर्ष की वजह से विभाग अंजान, किस-किस ने गंवाई जान

छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित नारायणपुर जिले में भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल के जवानों के बीच हुई आपसी गोलीबारी में छह जवानों की मौत हो गई है जबकि दो अन्य घायल हो गए हैं।
नक्सल ओपरेशन के एआईजी देवनाथ ने बताया कि नारायणपुर जिले के कडेनार गांव में स्थित आइटीबीपी के 45 वीं बटालियन के शिविर में आज जवानों के बीच गोलीबारी हुई है। इस गोलीबारी में छह जवानों की मृत्यु हो गई है तथा दो अन्य घायल हो गए हैं।

देवनाथ ने बताया कि आज शिविर में आईटीबीपी के एक जवान ने कथित तौर पर गोलीबारी शुरू कर दी। इस घटना में 5 जवानों की मौत हो गई और  दो अन्य घायल हो गए। बाद में हमलावर जवान को भी मार गिराया गया।

एआईजी ने बताया कि जवानों के शव और घायल जवानों को रायपुर अस्पताल भेजा गया है।


उन्होंने बताया कि घटना के बाद नारायणपुर जिले के पुलिस अधीक्षक मोहित गर्ग भी घटनास्थल के लिए रवाना हो गए हैं। इस संबंध में अधिक जानकारी ली जा रही है।जवान द्वारा फायरिंग करने से पांच जवानों की मौत हो गयी।  उन्होंने बताया कि जवान ने अपने साथी जवानों पर क्यों गोली चलाई इसका अभी पता नहीं चल पाया है।

एआईजी देवराज की प्रतिक्रिया

मृत जवानों में महेंद्र सिंह हिमाचल प्रदेश, सुरजीत सरकार पश्चिम बंगाल, दलजीत सिंह पंजाब, विश्वरूप महतो पश्चिम बंगाल और बीजेश कुमार केरला के रहने वाले बताये जा रहे हैं। वहीं उल्लास कुमार (केरला), सीतारम दुन (राजस्थान) घायल बताये जा रहे हैं। जबकि गोली बरसाने वाले का नाम मसुदुल रहमान बताया जा रहा है।

गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू की प्रतिक्रिया

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.