रोजगार की दिशा में छत्तीसगढ़ अपनी एक अलग ही छाप छोड़ता नजर आ रहा है। जहां बेरोजगारी की समस्या से देश का हर राज्य जूझ रहा है, वहीं छत्तीसगढ़ में पंजीकृत बेरोजगारों की संख्या घट रही है।

प्रदेश में 31 जनवरी 2019 को पंजीकृत बेरोजगार की संख्या 23 लाख 4 हजार 618 दर्ज थी, जो 31अक्टूबर 2019 में घट कर 22 लाख 71 हजार 531 दर्ज की गई है।आंकड़ों से स्पष्ट है, कि केवल 8 महीनों में प्रदेश में 33 हजार पंजीकृत बेरोजगार घटे है।

राष्ट्रीय स्तर की तुलना अगर करे तो प्रदेश की स्थिति काफी बेहतर है। राष्ट्रीय स्तर पर बेरोजगारी दर 7.48 फीसद है। और राज्य में बेरोजगारी दर 4.3 फीसद है।

राज्य सरकार ने कुछ दिनों पहले इस बात की जानकारी दी थी कि 10 महीने में 5 लाख लोगों को रोजगार दिया गया है।
ऐसे में आंकड़ो के अंतर को लेकर मंत्री उमेश पटेल का कहना है “यह जरूरी नहीं की रोजगार कार्यालय में पंजीकृत बेरोजगार को ही रोजगार मिला हो। विभाग या राज्य स्तर पर देखने पर अंतर तो आएगा ही।”

बता दें कि राज्य के दुर्ग जिले में सबसे ज्यादा 2 लाख 73 हजार पंजीकृत बेरोजगार है। वहीं राजनांदगांव में 1लाख 69 हजार 86, बालोद में 1 लाख 60 हजार 360, बिलासपुर में 1लाख 36 हजार 387, जांजगीर में 1 लाख 31 हजार 038, रायपुर में 90 हजार 346 पंजीकृत बेरोजगार है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *