छत्तीसगढ़ विधानसभा के उपाध्यक्ष पद के लिए शनिवार को मनोज मंडावी ने अपना नामांकन सचिव चन्द्र शेखर गंगराडे के पास दाखिल किया। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, राज्यसभा सांसद पीएल पुनिया, प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम और अन्य मंत्री विधायक शामिल हुए। मंडावी ने नामांकन दाखिल होने से पूर्व विस अध्यक्ष डॉ. चरण दास महंत से मुलाकात की।

मनोज मंडावी जोगी शासनकाल में उनके मंत्रीमंडल में थे और आदिवासी नेताओं में बड़े चेहरे हैं। वर्तमान में वे भानुप्रतापपुर से कांग्रेस के विधायक और अब जल्द विधानसभा के उपाध्यक्ष बनाए जाएंगे। मनोज के नाम पर विपक्ष के सभी विधायकों ने अपनी सहमति दे दी है और सोमवार को सर्वसम्मति से मंडावी उपाध्यक्ष चुन लिए जाएंगे।

विधानसभा के उपाध्यक्ष पद में पहले विपक्ष के नेता को चुना जाता था, लेकिन भाजपा शासनकाल में इस परंपरा को बदल दिया गया और उपाध्यक्ष पद पर सत्ता पक्ष के ही विधायक को बिठा दिया गया। अब इस नए परम्परा को कांग्रेस सरकार भी अपनाने जा रही है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *