वीडियो

ये शख्स लंबे बालों का फायदा उठाकर बनता था महिला नक्सली

अभिषेक नायक/ गरियाबंद जिले में नक्सलियों की बड़ी वारदात को अब तक अपने सुना होगा, लेकिन आज जो घटना हम आपको  सुनाने जा रहे हैं वो आपने पहले कभी नहीं सुना होगा। जिले में आस-पास के इलाकों में नक्सलियों के खौफ को देखते हुए कुछ दोस्तों ने इसका फायदा उठाने की रणनीति बनाई..गिरोह में महिला नक्सली की कमी को पूरा करने के लिए टीम के एक सदस्य की पगड़ी खुलवाकर उसे महिला नक्सली बनाया जाता था..फिर चिड़ी मार बंदूक की नोक पर ग्राम पंचायत के सरपंच और उपसरपंच से मोटी रकम वसूल की जाती थी। गिरोह में एक सदस्य पूर्व में नक्सलियों का सदस्य था इस लिए उनके टेरर्र और रूपये की वसूली करने का ट्रिक बखूबी जानता था।

https://www.facebook.com/topchandcg/videos/536867313560899/?eid=ARBimAHzc8t5a9kerHi6knzHNpY1LJgBdzRpz3x5SuL8iKerCArBtKubHE6LfuXNn9_l8qRP3ER5zyJd
देखे वीडियो

जानकारी के अनुसार गरियाबंद पुलिस ने 06 हथियार बंद फर्जी नक्सलियों को पकडने में सफलता हासिल किया है । पकडे गये आरोपी गांव के पंचायत प्रतिनिधियों से मोटी रकम की एक साल से अवैध वसूली करते आ रहे थे । गिरोह का सरगना पूर्व नक्सली था जिसने एक संगठन बनाकर योजना को अंजाम दे रहा था। किसी तरह हिम्मत जुटाकर जड़जड़ा के सरपंच शत्रुहन ध्रुव और  उप सरपंच हुकुमलाल साहू ने थाना कोतवाली गरियाबंद में लिखित आवेदन प्रस्तुत किया। जिसके बाद पुलिस ने घेराबंदी कर सभी आरोपियों को हथियार सहित रंगे हांथो गिरफ्तार किया है। फर्जी नक्सलियों के पास से पुलिस ने वाकी टाकी भरमार बंदूक एयर पिस्टल एके47 जैसा एयर गन एस.एल.आर. जैसा दिखने वाला स्माल पिस्टल के साथ बडी संख्या में हथियार भी बरामद किया है।

पुलिस अधीक्षक एम आर आहिरे ने बताया कि कुछ नक्सली गांव के सरपंचों से पैसा वसूलने आने वाले है । जिस पर स्पेशल टीम गठित कर अज्ञात नक्सलियों के मुव्हमेंट की सूचना ग्राम जड़जड़ा, छिदौला, खट्टी की तरफ होने की मिली थी। अंदेशा था कि जड़जड़ा सरपंच के घर वसूली के लिए फिर से आ सकते है। पकडे गये आरोपी सरपंचों से पैसा की उगाही करते थे । इस सूचना के आधार पर कोतवाली थाना एवं ई-30 टीम को आवश्यक दिशा निर्देश देकर जड़जड़ा की ओर रवाना किया गया था। पुलिस दल दो टीम में बटकर छुपाव हासिल कर नाकाबंदी कर रहे थे। इसी बीच कुछ लोगों की आहट सूनाई दी । पुलिस टीम द्वारा कौन है पुछने पर अचानक से 02-03 राउण्ड फायरिंग हुई । पुलिस टीम द्वारा भी जवाब में फायर किया । पुलिस ने बताया कि  पूर्व नक्सली गौतम चक्रधारी खाने पीने का शौकीन था । पैसे की कमी होने पर उन्होने अपने साथ पांच लोगो को ग्रुप में शामिल कर एक फर्जी नक्सली संगठन तैयार किया था । जिसमें आरोपी बादल सिंह का बाल लम्बा होने के कारण उसे महिला नक्सली बनाकर लोगो के सामने असली नक्सली होने की एहसास कराते थे । उक्त घटना की रिपोर्ट पर अज्ञात नक्सलियों के विरूद्ध थाना कोतवाली गरियाबंद में अपराध क्रमांक 253/2019 धारा 384,34 भादवि एवं 25 आम्र्स एक्ट पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.