छत्तीसगढ़ विधानसभा के शीतकालीन सत्र का पहले दिन ही विधानसभा अध्यक्ष सत्ता पक्ष के सदस्यों से नाराज हो गए। स्थगन प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान सत्तापक्ष के सदस्य के टिप्पणी पर डॉ. चरणदास महंत ने नाराज व्यक्त करते हुए शब्द विलोपित करने के निर्देश दिए।

प्राप्त जानकारी के अनुसार बिलासपुर विधायक शैलेष पाण्डेय ने धान खरीदी की मुद्दे पर चर्चा के दौरान कहा कि विपक्ष की गुंडागर्दी नहीं चलेगी। विधायक द्वारा सदन के अंदर असंसदीय शब्द के प्रयोग से विपक्ष के नेता बृजमोहन अग्रवाल और शिवरतन शर्मा समेत धरमजीत सिंह ने कड़ी आपत्ति दर्ज की। बीच बचाव करते हुए भिलाई विधायक देवेन्द्र यादव ने इस पर खेद जताया वहीं संसदीय कार्य मंत्री रविन्द्र चौबे ने भी पुरे मसले पर खेद जताया। विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत ने ऐसी टिप्पणी को लेकर सत्ता पक्ष के विधायक शैलेष पाण्डेय की कड़ी चेतावनी दी एवं इस टिप्पणी को सदन के रिकॉर्ड से विलोपित किये जाने का आदेश किया।

देखे विधायक देवेंद्र यादव की प्रतिक्रिया

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *