मुख्यमंत्री भूपेश बघेल शनिवार को बीजापुर दौरे पर थे। इस दौरान सीएम बघेल ने  मुसालूर ग्राम पंचायत के नुकनपाल गांव के गौठान पहुंचकर अवलोकलन किया।  बता दें कि यह गौठान लगभग 3 एकड़ क्षेत्र में फैला हुआ है। निरिक्षण करते हुए मुख्यमंत्री ने गौठान में कार्य करने वाले ग्रामीणों से भी कुछ चर्चा किया।

ग्रामीणों के द्वारा मुख्यमंत्री को बताया गया कि गौठान में 200 ज्यादा गाय और बैलों का पालन-पोषण और देखभाल किया जाता है। मुख्यमंत्री ने ग्रामीणों और स्वसहायत समूह से चर्चा में उन्हें बताया कि हमारे पास जो उपलब्ध है वही हमारे आय का साधन है। उन्होंने कहा कि गौठान से प्राप्त होने वाले गोबर से वर्मी खाद बनाया जा सकता है। वर्मी खाद का पैकिंग कर शहरी क्षेत्र में बागवानी करने वालों को बेच कर पैसा कमाया जा सकता है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि पैरा को जलाना नहीं है यदि ज्यादा मात्रा में है तो उसे गौठान में दान करना है। जैविक कृषि को प्रेरित करते हुए सीएम ने कहा कि यूरिया-पोटास खादों का इस्तेमाल नहीं करना है। जैविक खाद के उपयोग कर जैविक फसल और सब्जी उगा कर अधिक लाभ कमाया जा सकता है। मुख्यमंत्री को ग्रामीणों ने तीखूर, कजरीफूल, जवाफूल का भेंट किया।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *