मुख्यमंत्री निवास में शनिवार को भूपेश कैबिनेट की अहम बैठक संपन्न हुई। इस बैठक में निर्णय लिया गया कि सरपंच का चुनाव पंच नहीं बल्कि गांव के मतदाता ही करेंगे।

कैबिनेट ने यह भी तय किया है कि पंचायत चुनाव में पांचवी पास की पात्रता हटा कर केवल साक्षर होने की पात्रता को शामिल किया गया है। मतलब यह कि साक्षर लोग भी पंचायत चुनाव में पंच-सरपंच का चुनाव लड़ सकते हैं। 

इसके अलावा भूपेश कैबिनेट ने रायगढ़ में स्व. नंद कुमार पटेल के स्मृति में नए विश्वविद्यालय की स्थापना करने का निर्णय लेते हुए छत्तीसगढ़ विश्वविद्यालय अधिनियम 1973 में संशोधन कर विश्वविद्यालय के अनुमोदन हेतु प्रस्ताव किया। इसी तरह महात्मा गांधी के नाम पर उद्यानिकी एवं वानिकी विश्वविद्यालय विधेयक 2019 के प्रारूप का अनुमोदन किया गया।

साथ ही चिटफण्ड कंपनियों के विरुद्ध कार्यवाही करने का भी फैसला लिया गया बता दें कि यह मामला पिछले कई सालों से अटका हुआ था। लाखों लोगों के करोड़ों  पैसा डकारने वाली कंपनियों के खिलाफ कार्यवाही किया जायेगा। साथ ही एजेंट के विरुद्ध प्रकरणों मामला दर्ज कर ठगी की गई राशि वापस करने बैठक में  समीक्षा की गई।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *