छत्तीसगढ़ की पंचम विधानसभा का पहला शीतकालीन सत्र 25 नवंबर से शुरू होने जा रहा हैं। इसे लेकर गुरुवार को विधानसभा के सभाकक्ष में भूपेश कैबिनेट की बैठाक हुई। इस बैठक में निर्णय लिया गया कि सदन के प्रारंभ में वन्देमातरम गीत के साथ अब अरपा पैरी के धार महानदी हे अपार गाया जायेगा।  यह बहुत महत्वपूर्ण सवाल हो सकता है कि छत्तीसगढ़ का राजगीत बनने के बाद विधानसभा में इसे पहली बार कब गाया गया। तो इसका जवाब है 25 नवंबर! 25 नवंबर को छत्तीसगढ़ का राजगीत पहली बार विधानसभा में गाया जाएगा ।

इसके अलावा भूपेश कैबिनेट में संविधान दिवस को पुरे प्रदेश में पहली बार मनाने का फैसला लिया गया। संविधान दिवस को एक विशेष दिन के रूप में पुरे प्रदेश भर में मनाया जायेगा।  मुख्य सचिव ने इसके लिए पूर्व दिनों में ही सभी विभागों की बैठक लेकर कार्ययोजना तैयार कर लिया है।  जिसे आज कैबिनेट में मंजूरी दे दी गई ।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *