रायपुर। फिल्म अभिनेता अमीर खान को रायपुर कोर्ट से बड़ी राहत मिली है। अमीर को यह राहत जस्टिस लीना अग्रवाल के न्यायालय से मिली हैं। दरअसल रायपुर के अधिवक्ता  दीपक दीवान ने अमीर खान पर उनके असहिष्णुता वाले बयान को लेकर परिवाद दायर किया था।

अमीर खान ने वर्ष 2015 में कहा था कि “पिछले कुछ समय से भारत मे असहिष्णुता का वातावरण निर्मित हो गया है, जिसकी वजह से उनकी पत्नी के मन में भय व्याप्त रहता है एवं वे परिवार की सुरक्षा के लिए कही बाहर निवास करने के लिए कहतीं हैं ।”

अधिवक्ता दीपक दीवान की इस परिवाद को केंद्र सरकार अथवा संबंधित राज्य सरकार की पूर्व मंजूरी के अभाव में न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी, रायपुर द्वारा परिवाद निरस्त कर दिया गया था। इसके बाद अधिवक्ता दीपक दीवान द्वारा न्यायिक मजिस्ट्रेट के आदेश को दाण्डिक पुनरीक्षण याचिका में चुनौती दी गई थी।

इस पर अभिनेता आमिर खान की तरफ से अधिवक्ता आरके ग्वालरे और डीके ग्वालरे ने पैरवी करते हुए बचाव किया। इसके बाद दोनों पक्षों की दलील सुनने के बाद अभिनेता को जस्टिस लीना अग्रवाल ने केस ख़ारिज कर दिया।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *