पढ़ने लायक

क्यों अब सीएम भूपेश बघेल ने लिखा है सभी सांसदों को पत्र?

प्रदेश की पॉलिटिक्स और राज्य की सरकार दोनों का ही फ़ोकस इस वक़्त धान ख़रीदी पर हैं। भाजपा लगातार धान ख़रीदी की बढ़ी तारीख़ और समर्थन मूल्य पर धान ख़रीदी का मुद्दा उठा रही है। जबकि सरकार का दावा है कि प्रदेश के एक एक किसान का धान ख़रीदा जाएगा, वो भी 2500 रुपए के समर्थन मूल्य के साथ। केंद्र सरकार से लगातार राज्य सरकार सेंट्रल पुल में चावल ख़रीदने के लिए अपील कर रही है। चूंकी केंद्र सरकार ने राज्य सरकार को बोनस देकर धान ख़रीदी करने पर सेंट्रल पुल में चावल लेने से इंकार कर दिया है। जबकि कांग्रेस ने चुनाव से पूर्व अपने जन घोषणा पत्र में किसानों से प्रति वर्ष 2500 रुपए मूल्य में ख़रीदने का वादा किया है। 

केंद्र और राज्य सरकार की पॉलिटिक्स में फंसे किसानों को इस बात की बहुत चिंता है। इस बीच मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस मुद्दे को सांसद के शीतकालीन सत्र में उठाने की लिए एक पत्र लिखा है। पत्र में ख़ास कर बीजेपी सांसदों के लिए है। चूंकी इस मुद्दे पर मुख्यमंत्री भूपेश की अध्यक्षता में बुलाई गई बैठक का भाजपा सांसदों में बहिष्कार कर दिया था। मुख्यमंत्री की ओर से इस पत्र में लिखा है कि धान खरीदी और कृषि से संबंधित, कोल ब्लाक से संबंधित, वन अधिकार पट्टे से संबंधित साथ ही ऐसे बहुत सारे विषय जिनमें मुख्यमंत्री या संबंधित विभागों द्वारा पत्र लिखा गया है और उन प्रकरणों में केन्द्र से कार्यवाही अपेक्षित है। मुख्यमंत्री के इस पत्र में इन तमाम मुद्दों का ज़िक्र है। जिसे मुख्यमंत्री ने पुरजोर तरीके से उठाने की अपेक्षा और आग्रह किया है। 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.