पढ़ने लायक

आश्वासन की चासनी में लिपट गया धान, नहीं बनी ठोस बात..केंद्र से बायोफ्यूल के क्षेत्र में निवेश पर भी चर्चा

रायपुर। प्रधानमंत्री कार्यालय से मुलाकात की खबर के बाद किसानों में एक उम्मीद जगी थी कि शायद अब बात बन जाएगी। लेकिन, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, मंत्री रविन्द्र चौबे और अमरजीत भगत की केन्द्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और राम विलास पासवान के साथ मुलाकात में हुई चर्चा पर आश्वासन ही मिला है। मतलब, केंद्र सरकार का अब भी सेन्ट्रल पुल में चावल नहीं लेने का स्टैंड बना हुआ नजर आ रहा है।

राज्य सरकार की ओर से इस मुलाकात को लेकर जानकारी दी गई हैं कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने केन्द्रीय मंत्रियों राज्य के किसानों के हित में सेन्ट्रल पूल में चावल उपार्जन की अनुमति दिए जाने का आग्रह किया। केन्द्रीय मंत्रियों ने आग्रह पर सकारात्मक पहल करने का आश्वासन दिया है।

इधर, धान खरीदी को लेकर भाजपा कांग्रेस सरकार पर दबाव बना रही है।  भाजपा 15 नवंबर को भूपेश सरकार का मंडल स्तर पर विरोध करेगी। वहीं इस पर कांग्रेस और सरकार का क्या स्टैंड रहेगा अभी कुछ साफ़ नहीं है। राम मंदिर के फैसले के कारण लगे 144 के चलते कांग्रेस ने अपने दिल्ली के आंदोलन को फिलहाल स्थगित कर दिया है। हालांकि मुख्यमंत्री ने स्पष्ट किया है कि दिल्ली जाने का आंदोलन स्थगित है इसे रद्द नहीं माना जाए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.