पढ़ने लायक

पूर्ववर्ती सरकार में हुए संवाद घोटाले की जांच तेज, राजेश सुकुमार टोप्पो से होगी पूछताछ

जनसंपर्क विभाग के संवाद में हुए करोड़ो रुपयों की हेराफेरी के मामले में राज्य आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो (ईओडब्ल्यू) की जांच तेज हो गयी है । इस मामले को लेकर ईओडब्ल्यू अब जनसंपर्क आयुक्त रहे आईएएस अफसर राजेश सुकुमार टोप्पो से पूछताछ करने जा रहा है ।

राज्य सरकार ने संवाद घोटाले की जांच का ज़िम्मा ईओडब्ल्यू को सौंपा है, ईओडब्ल्यू अब तत्कालीन अधिकारियों से जांच और पूछताछ करने जा रहा है । जानकारी के मुताबिक घोटाले के प्रारंभिक जांच रिपोर्ट के आधार पर ईओडब्ल्यू में भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धारा 7(सी) व धारा 13(1)(ए) के तहत दो मामले दर्ज किए गए है । इसके बाद ईओडब्ल्यू में आईएएस राजेश टोप्पो सहित तत्कालीन अधिकारियों व दो एजेंसियों-कंसोल इंडिया व क्यूब मीडिया के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है ।

जिस आधार पर ईओडब्ल्यू का कहना है  कि जिम्मेदार अधिकारियों से पूछताछ किया जाएगा, और जांच तेजी से की जाएगी । छत्तीसगढ़ संवाद में 21 निविदा प्रक्रियाओं द्वारा सूचीबद्ध की गई 48 फर्म व एजेंसियों का इम्पैनलमेंट पहले ही रद्द किया जा चुका है जिन्हें दिये गए 85 करोड़ रुपये के कार्यो में से 61 करोड़ रुपये का भुगतान हुआ है ।

पूर्ववर्त्ती सरकार ने इसके अलावा टेंडर प्रक्रिया में भी हेराफेरी की थी , चुनाव प्रचार-प्रसार सहित अन्य मदों को लेकर करीब ढाई सौ करोड़ रुपए का बजट बनाया था , लेकिन चुनाव आचार संहिता लगने से  पहले करीब 400 करोड़ के टेंडर जारी कर दिए । जो कि संपर्क विभाग के लिए जारी बजट से दो सौ करोड़ रुपए ज्यादा है ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.