पढ़ने लायक

किसान को 2500 देने सर्वदलीय बैठक से बीजेपी ने किया किनारा, सीएम ने पूछे 2 तल्ख सवाल

रायपुर। मंत्रालय भवन में आयोजित धान खरीदी के मसले पर भारतीय जनता पार्टी के सांसदों ने दूरी बनाकर रखा और एक भी बीजेपी सांसद बैठक में शामिल होने नहीं पहुंचा। तोपचंद डॉट कॉम ने पहले ही बीजेपी सांसदों के बैठक में नहीं शामिल होने की आशंका जताई थी।

बीजेपी के सांसद के नहीं आने की स्थिति में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपने पार्टी के गिने-चुने विधायकों के साथ इस विषय पर चर्चा की। चर्चा में बस्तर सांसद दीपक बैज, जंजगीर-चांपा सांसद ज्योत्सना महंत और राज्य सभा सांसद छाया वर्मा ही उपस्थित थी।  

इस बैठक के बाद सीएम भूपेश ने कहा कि केंद्र सरकार ने किसानों को 2500 रूपये समर्थन मूल्य देने पर अजीबों-गरीब जवाब दिया है, उन्होंने कहा कि 2500 किसानों को देने से व्यापार अव्यवस्थित हो जाएगा। उन्होंने आगे 2 तल्ख़ सवाल भी किए।

  • 2500 किसानों को मिले य न मिले।
  •  बीजेपी अपना स्टैंड क्लियर करे।

उन्होंने आगे कहा कि जब नियम बीजेपी शासनकाल में शिथिल हुआ था। तो अब क्यों नहीं होना चाहिए। बीजेपी के सांसद सूचना मिलने के बाद भी नहीं पहुंचे। सूचना मिलने के बाद भी झूठी बातें न कहें।  मीडिया के माध्यम से बीजेपी सांसद झूठ न फैलाएं।

उन्होंने आगे कहा कि हम अपना 2500 देने  का वादा निभा रहे हैं । 24 लाख मीट्रिक टन चावल खरीदने का सवाल है। 32 लाख मीट्रिक टन चावल खरीदने की मांग कर रहे हैं। बीजेपी अपने वादे से मुकर रही है। बीजेपी क्या यह चाहती है कि किसानों को 2500 ₹ न मिले।

सर्व दल की बैठक में शामिल होने आये जनता कांग्रेस विधायक धर्मजीत भगत ने कहा हमारे घोषणापत्र में 2500 धान का समर्थन मूल्य देने की घोषणा की थी।

हम चाहते हैं हमारे किसानों को धान का समर्थन मूल्य मिले। दिल्ली से समर्थन मिले या नहीं, हम सरकार को 2500 ₹ में धान खरीदने के लिए बाध्य करेंगे।

वहीं बसपा के विधायक केशव चन्द्र ने कहा किसानों को अधिकार मिले उसके लिए हम आये हैं। हमारा प्रयास है 2500 में धान खरीदी की जाए। केंद्र की सरकार इसमें सहयोग करे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.