रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ऐलान किया है कि वे आने वाले 13 नवंबर को सड़क मार्ग से दिल्ली के लिए रवाना होंगे। इसके पीछे की वजह उन्होंने बताया है कि केंद्र सरकार किसानों के साथ भेदभाव कर रही हैं। ऐसे में वे रास्ते भर अन्य प्रदेशों के किसानों को जागरूक करेंगे।

कांग्रेस के प्रदेश कार्यालय में रविवार को विधायकों और जिला अध्यक्ष समेत तमाम वरिष्ठ पदाधिकारियों की बैठक हुई। इसके सीएम भूपेश बघेल, प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया और प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम ने प्रेसवार्ता ली।

सीएम भूपेश ने कहा 2 साल से भारत सरकार ने सेंट्रल पूल में राज्य सरकार से चावल लिया था। तब जाकर किसानों का पूरा धान खरीदा जा सका। मैंने पीएम से समय मांगा है उम्मीद है उन्हें समय मिलेगा। खेत-खलिहान गीला है इसलिए 1 दिसम्बर से 15 फरवरी तक धान खरीदी को बढ़ाया गया है। सभी जन प्रतिनिधियों से किसानों से पीएम को पत्र लिखने का आग्रह किया है।5 अक्टूबर को सभी सांसदों के साथ मंत्रालय में बैठक होगी।

आगे सीएम ने पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह पर निशाना साधते कहा रमन सिंह की नीतियों के कारण प्रदेश गरीब हुआ है , कुपोषण 38 प्रतिशत से ऊपर है, रमन सिंह के राज में गरीब और गरीब हुआ। रमन सिंह बताएं कितने MOU किये कितने उद्योग लगे, रमन सिंह अर्थशास्त्र के बड़े जानकर बन रहे हैं तो उन्हें प्रधानमंत्री बन जाना चाहिए।

प्रदेश के प्रभारी पीएल पुनिया ने कहा कि केंद्र सरकार की राज्य के प्रति दुर्भावना है, इसलिए वे धान खरीदी नहीं करना चाहते। जब प्रदेश में बीजेपी की सरकार थी तब उसने धान का बोनस देने की छूट दे दी। जब प्रदेश में किसानों की छग कांग्रेस की टीम संघर्ष करके सरकार में आई फिर संघर्ष करना पड़े तो फिर संघर्ष करेंगे ।

दिल्ली जाने का क्या है प्लान

प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा जीएसटी नोटबन्दी और आर्थिक बदहाली पर आंदोलन होगा। केंद्र प्रदेश के किसानों के साथ भेदभाव कर रही है। 5 से 12 तक ब्लाक और जिले में कार्यक्रम होगा। 13 तारीख को दिल्ली जाकर 15 नवम्बर को दिल्ली में बड़ा आंदोलन करेंगें। प्रधानमंत्री के नाम किसान पत्र लिखेंगे, ब्लॉक स्तर से जिला स्तर तक किसानों से चिट्ठी लेकर उसे ट्रक में भरकर पीएम आवास पहुँचाने जाएँगे। इस दौरान सीएम भूपेश और प्रदेश के प्रभारी पीएल पुनिया भी मौजूद रहेंगे। p��1�

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *