Uncategorizedपढ़ने लायक

छत्तीसगढ़ में अब गांव का वोटर नहीं , पारों के पंच चुनेंगे ग्राम सरपंच

छत्तीसगढ़ महापौर के चुनाव में नियम बदलने की वजह से सरकार को आलोचना का सामना करना पड़ रहा है। इस बीच सरकार ग्राम पंचायतों के सरपंचों में भी महापौर फार्मूला लागू करने जा रही है। यानी अब गांव के लोग अपने पंच और सरपंच के लिए अलग अलग वोट नहीं करेंगे। गांव में पंचों का चुनाव होगा उनमें से एक पंच को गांव के सभी पंच मिलकर सरपंच चुनेंगे, जिसके समर्थन में ज्यादा पंच होंगे वही गांव का सरपंच चुना जाएगा। इस प्रणाली का बीजेपी विरोध कर रही है बीजेपी का कहना है कि, प्रदेश में सरकार ने पहले नगरीय प्रशासन की व्यवस्था को बदला और अब पंचायतों में भी वही करने की तैयारी है। यह लोकतंत्र का अपमान है। कैबिनेट मंत्री अमरजीत भगत ने कहा है कि, पारदर्शी प्रणाली से चुनाव हो इसलिए पंचायत चुनाव की प्रक्रिया में बदलाव किया जा रहा है।
सवाल यह कि, जब पंच सरपंच चुनेंगे तब क्या जनपद सदस्य को सरपंच चुनेंगे। फिर जिला पंचायत सदस्यों का चुनाव क्या सरपंच और जनपद सदस्यों के वोटिंग से होगा। पंचायती राज ​अधिनियम में इन तीनों चरणों को काफी अधिकार दिए गए हैं। जब सरकार बदलाव की बात कर रही है ऐसे में साफ नहीं है कि, पंचायत से उपर की प्रक्रिया में किस तरह बदलाव किया जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.